+

हरियाणा उपचुनाव : आदमपुर जीतने के लिए 'आप' ने झोंकी ताकत, प्रचार के लिए भारी संख्या में उतारेंगी विधायक

हरियाणा में सियासी पैर जमाने के लिए अरविंद केजरीवाल ने ब्यौरा तैयार कर लिया हैं , भाजपा नेता कुलदीप बिश्नोई के इस्तीफे बाद खाली हुई आदमपुर विधानसभा सीट पर आम आदमी पार्टी सत्ताधारी दल व कांग्रेस को भारी चुनौती देने के मुड़ में दिख रही हैं।
हरियाणा उपचुनाव : आदमपुर जीतने के लिए 'आप' ने झोंकी ताकत, प्रचार के लिए भारी संख्या में उतारेंगी विधायक
हरियाणा में सियासी पैर जमाने के लिए अरविंद केजरीवाल ने ब्यौरा तैयार कर लिया हैं , भाजपा नेता कुलदीप बिश्नोई के इस्तीफे बाद खाली हुई आदमपुर विधानसभा सीट पर आम आदमी पार्टी सत्ताधारी दल व कांग्रेस को भारी चुनौती देने के मुड़ में दिख रही हैं।  इतनी बड़ी तैयारी के पीछे आम आदमी पार्टी की सोची समझी रणनीति है , दरअसल केजरीवाल का गृहराज्य भी हरियाणा ही हैं।  लेकिन पार्टी अभी तक हरियाणा के किसी भी चुनाव में कोई सफलता हासिल नहीं कर पाई हैं।  इसलिए आदमपुर के सहारे केजरीवाल हरियाणा की राजनीति में अपना भूतत्व कायम करना चाहते हैं।  अभी तक हरियाणा की राजनीति में सिर्फ जाट चेहरों को तव्वजों मिलती रही हैं,लेकिन आम आदमी पार्टी कई दलों के नेताओं को अपनी ओर खींच चुके हैं। सूत्रों से मिली खबर  के अनुसार है आम आदमी  पार्टी ने राज्य की VIP सीट पर बड़ी तैयारी करने का फैसला किया है। इस संबंध में गुरुवार को आम आदमी पार्टी ने उच्च स्तर की एक बड़ी बैठक भी की  थी । 6 राज्यों की 7 सीटों पर 3 नवंबर को चुनाव होने हैं।
आप की रणनीति में छिपी हैं हरियाणा में पैर जमाने की कोशिश
दरअसल आदमपुर उपचुनाव के जरिए आम आदमी पार्टी हरियाणा में बढ़त बनाने की सोच रही हैं । रणनीति के तहत पार्टी आदमपुर सीट पर करीब 2 हजार लोगों की संख्या में कार्यकर्ताओं को चुनावी मैदान में उतारेंगी । जो पार्टी के कार्य नीति का लोगों के बीच प्रचार करेंगे । इसके साथ हरियाणा के निवासी व पार्टी के मीडिया जगत में चर्चित चेहरों को दिल्ली के 25 विधायकों को प्रचार के लिए आदमपुर में भेजा जाएगा । 
 कुलदीप बिश्नोई के इस्तीफे के बाद खाली हुई विधानसभा सीट
कुलदीप भाजपा में शामिल होने से पहले कांग्रेस के आदमपुर सीट से विधायक थे , लेकिन कांग्रेस हाईकमान से खटपट के चलते कुलदीप बिश्नोई ने विधानसभा से इस्तीफा देते हुए भाजपा में शामिल हो गए थे , जिसके बाद से आदमपुर में राजनीतिक गहमागहमी लगी हुई हैं । लेकिन इस सीट को वीआईपी  होने का दर्जा हासिल हैं , क्योंकि इस सीट पूर्व सीएम भजनलाल कई बार विधायक चुने गए हैं । इसलिए आम आदमी पार्टी भी आदमपुर को जीतने के पूरी ताकत झोंक रही हैं । 
facebook twitter instagram