+

विपक्षी दलों की रैली में लगे आज़ाद बलूचिस्तान के नारे, हुआ विवाद

पीडीएम द्वारा आयोजित तीसरी रैली में उस वक्त विवाद पैदा हो गया जब बलूचिस्तान को आजाद करने की मांग उठ गई।
विपक्षी दलों की रैली में लगे आज़ाद बलूचिस्तान के नारे, हुआ विवाद

पाकिस्तान में 11 विपक्षी दलों के गठबंधन ‘पीडीएम’ ने गुजरांवाला और कराची के बाद बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में तीसरी रैली की। इस दौरान जहां वीडियो लिंक द्वारा पूर्व अपदस्थ पीएम नवाज शरीफ ने लंदन पाक सेना और आईएसआई पर आरोप लगाए, वहीं क्वेटा में मरियम नवाज ने कहा कि पीडीएम बलूचिस्तान के साथ न्याय करेगा। विपक्ष ने कहा, इमरान का सूरज डूबने को है।

नवाज शरीफ ने कहा, जनरल बाजवा आपको 2018 में हुए चुनाव रिकॉर्ड धांधली के लिए जवाब देना होगा। उन्होंने आईएसआई प्रमुख पर भी कई वर्षों तक राजनीति में दखल का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, मुझे बलूचों की तकलीफें पता हैं, वहां के लापता पीड़ितों का दर्द मुझे भी है। उधर, शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने क्वेटा रैली में कहा, पाकिस्तान और बलूचिस्तान के भाग्य को बदलने का वक्त आ गया है।

अब आपके पति और भाई या बलूच नागरिक लापता नहीं होंगे। दरअसल, इस काम के लिए वे लोग जिम्मेदार नहीं जो शासन करते हैं, अलबत्ता उनके तार कोई और खींचता है। उन्होंने कहा, तानाशाही का सूरज डूबने वाला है और इमरान का कठपुतली शो जल्द ही खत्म हो जाएगा। इस दौरान पीपीपी के बिलावल भुट्टो जरदारी ने भी वीडियो लिंक के माध्यम से बलूचिस्तान के लोगों को न्याय देने का आश्वासन दिया।

क्वेटा में पीडीएम द्वारा आयोजित तीसरी रैली में उस वक्त विवाद पैदा हो गया जब बलूचिस्तान को आजाद करने की मांग उठ गई। रैली में जमीयत उलेमा-ए-पाकिस्तान के नेता औवैस नूरानी ने ‘आजाद बलूचिस्तान’ बनाने की घोषणा ही कर डाली। उन्होंने कहा, बलूचिस्तान की जनता को लुटेरे लूट रहे हैं, हम उसे निजात दिलाएंगे। बलोचिस्तान के सीएम कमाल खान अलयानी ने इस बयान की निंदा की

facebook twitter instagram