+

कनाडा-चीन विवाद : राजदूत की कथित ‘धमकी वाले’ बयान पर विवाद तेज

कनाडा में चीन के राजदूत के बयान को लेकर दोनों देशों के बीच राजनयिक विवाद तेज हो गया है जबकि कनाडाई मीडिया में चीनी राजदूत की आलोचना पर बीजिंग ने नाराजगी जाहिर की है।
कनाडा-चीन विवाद : राजदूत की कथित ‘धमकी वाले’ बयान पर विवाद तेज
कनाडा में चीन के राजदूत के बयान को लेकर दोनों देशों के बीच राजनयिक विवाद तेज हो गया है जबकि कनाडाई मीडिया में चीनी राजदूत की आलोचना पर बीजिंग ने नाराजगी जाहिर की है। कनाडा और चीन के बीच आरोप-प्रत्यारोप का यह दौर ऐसे समय में शुरू हुआ है जब दोनों देशों के बीच का संबंध हाल के वर्षों में सबसे निचले स्तर पर है। दरअसल संबंधों में गिरावट की बड़ी वजह कनाडा द्वारा टेलिकॉम कंपनी हुआवी की एक शीर्ष कार्यकारी अधिकारी को हिरासत में लिया जाना और फिर जवाबी कार्रवाई में चीन में कनाडा के दो लोगों की गिरफ्तारी है।
वहीं, यह हालिया नया विवाद कनाडा में चीन के राजदूत कोंग पियू द्वारा हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों को हिंसक अपराधी बताने और यह कहने के बाद शुरू हुआ है कि अगर कनाडा इन लोगों को शरण देता है तो यह चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने जैसा होगा। ओटावा में चीनी दूतावास से एक ऑनलाइन समाचार सम्मेलन में कोंग ने कहा था, ‘‘अगर कनाडा वास्तव में हांगकांग की समृद्धि और स्थिरता तथा हांगकांग में कनाडा का पासपोर्ट रखने वाले 3,00,000 लोगों और हांगकांग एसएआर में बड़ी संख्या में संचालित कर रहीं कनाडा की कंपनियों के कल्याण और सुरक्षा के बारे में सोचता है तो आपको हिंसा से लड़ने वाले प्रयासों का समर्थन करना होगा।’’
कोंग से जब यह पूछा गया कि क्या उनकी टिप्पणी धमकी है तो उन्होंने जवाब में कहा, ‘‘यह आपकी व्याख्या है।’’ कनाडा की उप प्रधानमंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने सोमवार को संसद में कहा कि राजदूत की टिप्पणी दोनों देशों के बीच उचित राजनयिक संबंधों की भावना को बनाए रखने जैसा नहीं है। उन्होंने कहा कि चीन में मानवाधिकार के लिए कनाडा आवाज उठाता रहेगा और हांगकांग में रहने वाले अपने नागरिकों का समर्थन करता रहेगा और वह इसके लिए कनाडाई नागरिकों को आश्वस्त करती हैं। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी सरकार ने कनाडा में कोंग की आलोचना को लेकर ओटावा से शिकायत की है। 
फ्रीलैंड का बयान चीनी प्रवक्ता के बयान के घंटों बाद आया है। लिजियन ने मीडिया में आलोचना के बारे में विशेष उल्लेख तो नहीं किया लेकिन ‘टोरंटो सन’ ने शनिवार को एक संपादकीय में कोंग से माफी मांगने के लिए कहा था। इसी बीच कनाडा में विपक्षी कंजर्वेटिव पार्टी के एरिं ओ’ टूले ने कहा कि कोंग ने हांगकांग में रह रहे कनाडा के लोगों को चेतावनी दी है और इसके लिए या तो उन्हें माफी मांगनी चाहिए या यहां से चले जाना चाहिए। 

facebook twitter instagram