+

यूपी की तरह दिल्ली में भी बदलें जाएंगे जगहों के नाम! BJP ने NDMC को पत्र लिखाकर की ये मांग

उत्तर प्रदेश की तर्ज पर अब राजधानी दिल्ली में भी नाम बदलने वाली सिसायत तेज हो गई है।दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने नगर निगम के चेयरमैन को पत्र लिखकर कई सड़कों के नाम बदलने की मांग की है..
यूपी की तरह दिल्ली में भी बदलें जाएंगे जगहों के नाम! BJP ने NDMC को पत्र लिखाकर की ये मांग
उत्तर प्रदेश की तर्ज पर अब राजधानी दिल्ली में भी नाम बदलने वाली सिसायत तेज हो गई है।दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने नगर निगम के चेयरमैन को पत्र लिखकर कई सड़कों के नाम बदलने की मांग की है। मंगलवार को नई दिल्ली नगर पालिका परिषद  को पत्र लिखकर लुटियंस दिल्ली में अकबर रोड, हुमायूं रोड जैसे मुगल शासकों के नाम वाली छह सड़कों का नाम बदलने की मांग की गई है।
 कुछ सड़कों के नामों से गुलामी के प्रतीक की झलक दिखाई पड़ती
आदेश गुप्ता ने कहा ने पत्र में कहा कि आजादी के इतने वर्ष बाद भी आज भी दिल्ली की कुछ सड़कों के नामों से गुलामी के प्रतीक की झलक दिखाई पड़ती है, इसलिए अब इन सड़कों के नाम जल्द से जल्द बदले जाएं।  साथ ही वे कहते है कि यह हम सभी देशवासियों के लिए गौरव का क्षण है कि आज पूरा देश सिखों के 10वें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी का 400वां प्रकाश पर्व मना रहा है। सिखों के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण खालसा पंथ की स्थापना भी श्री गुरु गोविंद सिंह जी द्वारा की गई थी। इसके साथ ही उन्होंने देश व धर्म की रक्षा के लिए उन्होंने अपने चार सुपुत्रों का भी बलिदान कर दिया था।
विभूति को श्रद्धांजलि देने के लिए हमारी मांग है कि नई दिल्ली स्थित
ऐसी महान विभूति को श्रद्धांजलि देने के लिए हमारी मांग है कि नई दिल्ली स्थित तुगलक रोड, जो मुगल काल की गुलामी का प्रतीक है, उसका नाम बदलकर श्री गुरु गोविंद सिंह मार्ग के नाम पर किया जाए। वहीं, हिंदुओं के गौरव और मेवाड़ की आन, बान और शान, जिन्होंने मुगलों का डंटकर मुकाबला किया ऐसे वीर योद्धा महाराणा प्रताप की 482वीं जयंती के उपलक्ष्य में अकबर रोड का नाम बदल कर महाराणा प्रताप मार्ग किया जाए। इससे न सिर्फ हमारे युवाओं को बल्कि आने वाली पीढ़ियों को भी लंबे समय तक प्रेरणा मिल सकेगी।  
डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लेन किया जाए
इसके साथ ही गुलामी के प्रतीक औरंगजेब लेन का नाम बदलकर भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक मिसाइल मैन के नाम से प्रसिद्ध रहे डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लेन किया जाए। ऐसे ही बाबर लेन का नाम बदलकर देश के लिए मात्र 18 साल की उम्र में फांसी पर चढ़ने वाले ज्वलंत तथा युवा क्रांतिकारी खुदीराम बोस ले के नाम पर किया जाए।
महाकाव्य रामायण के रचियता आदिकवि
इसी प्रकार हुमायूं रोड का नाम बदलकर महाकाव्य रामायण के रचियता आदिकवि के रूप में प्रसिद्ध महर्षि बाल्मीकि रोड के नाम पर किया जाए। वहीं, शाहजहां रोड का नाम बदलकर भारत के प्रथम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ रहे जनरल बिपिन रावत के नाम पर किया जाए।  

facebook twitter instagram