+

-बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम के वार से नहीं बच सकी पाकिस्तान की टीम, जीता हुआ मुकाबला हारी

जब से ब्रेंडन मैकुलम इस टीम के कोच बने है इंग्लैंड ने 8 मैचों में से 7 में जीत हासिल की है। जबकि एक मुकबला साउथ अफ्रीका के खिलाफ हारी है। इस मैच में भी पहले बैटिंग करते हुए इंग्लैंड की टीम ने 657 रन बनाए उसके बाद पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी में 579 रन बनाए और इस तरह इंग्लैंड को 78 रन की लीड मिली पहली पारी के आधार पर
-बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम के वार से नहीं बच सकी पाकिस्तान की टीम, जीता हुआ मुकाबला हारी
रावलपिंडी टेस्ट मैच के बाद इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स और कोच ब्रेंडन मैकुलम की जमकर तारीफ हो रही है और तारीफ़ हो भी क्यों न जिस तरह से पाकिस्तान के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम ने खेल दिखया है उसे हर कोई हैरान है। रावलपिंडी की इस फ्लैट पिच पर जहां बल्लेबाज़ों का बोल बाला रहा और पहली दो पारियों में जिस हिसाब से रन बरसे है सबको लगा था की यह मैच ड्रा की तरफ जा रहा है, लेकिन इंग्लैंड की यह नई अप्रोच वाली टीम तो ड्रा में विश्वास रखती ही नहीं है। जिसका नतीजा हमने देख लिया है। 
जब से ब्रेंडन मैकुलम इस टीम के कोच बने है इंग्लैंड ने 8 मैचों में से 7 में जीत हासिल की है। जबकि एक मुकबला साउथ अफ्रीका के खिलाफ हारी है। इस मैच में भी पहले बैटिंग करते हुए इंग्लैंड की टीम ने 657 रन बनाए उसके बाद पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी में 579 रन बनाए और इस तरह इंग्लैंड को 78 रन की लीड मिली पहली पारी के आधार पर। इसके बाद दूसरी पारी में इंग्लैंड की टीम ने 35.5 ओवर में 267 रन बनाकर पारी घोषित कर दी। इस तरह पाकिस्तान के सामने 343 रन का टारगेट रखा गया। इस फैसले पर सवाल भी उठे क्यूंकि मैच को खत्म होने में अभी 1.5 दिन का खेल बचा हुआ था और इस फ्लैट पिच को देख कर लग रहा था की मैच या तो ड्रा होगा या फिर पाकिस्तान के पक्ष में जा सकता है। लेकिन कप्तान बेन स्टोक्स और कोच मैकुलम को अपनी टीम पर यकीन था की वो इस मैच का नतीजा अपने हक़ में ला सकते है और हुआ भी कुछ ऐसा ही।
मैच के आखिरी दिन जब पाकिस्तान के 9 विकेट गिर चुके थे और दिन का खेल खत्म में होने कुछ ही समय बचा हुआ था तब पाकिस्तान की टीम ने इस मैच में हार से बचने के कई ड्रामे किए, जैसे ड्रिंक्स के वक्त बल्लेबाज़ मोहम्मद अली वाशरूम का बहाना बनाकर ग्राउंड में देरी से आए। उसके बाद नसीम शाह भी आखिरी ओवर्स में अपने ग्लव्स बदलते हुए दिखे। उधर शाम का समय होगया था तो सूरज की रौशनी भी कम होने लगी थी और अंपायर ने लाइट मीटर भी निकल लिया था. लेकिन कप्तान बेन स्टोक्स ने एक तरफ स्पिन गेंदबाज़ को लगा के रखा ताकि कम लाइट का बहाना न बनाया जाए। हालाँकि इन लाख कोशिशों के बाद भी पाकिस्तान टीम इस मैच को हारने से नहीं बचा पाई और इंग्लैंड ने पाकिस्तान की धरती पर 22 साल बाद कोई टेस्ट मुकाबला जीता। इस जीत के साथ इंग्लैंड अब तीन मैच की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त ले चुकी है। वहीँ इसे पहले इंग्लैंड की टीम ने साल 2000 में पाकिस्तान में टेस्ट मैच में जीत दर्ज़ की थी। अब दूसरा टेस्ट मैच 9 दिसंबर से मुल्तान में खेला जाएगा। 
facebook twitter instagram