+

जनता के मुद्दे कमाई, महंगाई लेकिन BJP के मुद्दे दंगा, तानाशाही..., राहूल का केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "जनता के मुद्दे - कमाई, महंगाई, BJP के मुद्दे - दंगा, तानाशाही। देश को आगे बढ़ाना है तो बीजेपी की नकारात्मक सोच और नफ़रत की राजनीति को हराना
जनता के मुद्दे कमाई, महंगाई लेकिन BJP के मुद्दे दंगा, तानाशाही..., राहूल का केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार
महंगाई पिछले कुछ महीनों से बहुत चुभ रही है। रसोई के सामान एवं रोजमर्रा की अन्य जरूरी वस्तुओं के साथ-साथ पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतें आम आदमी की जिंदगी चुनौतीपूर्ण बना दी है। समाज का लगभग हर वर्ग बजट में संतुलन साधने में बेहाल है। होलसेल महंगाई  में 9 सालों के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा है। अप्रैल 2022 महीने में थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर 15 फीसदी के पार 15.08 फीसदी रहा है जबकि मार्च में 14.55 फीसदी रहा था। वहीं इस बढ़ती महंगाई पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर बीजेपी पर कड़ा वार करते हुए कहा कि बीजेपी के मुद्दे दंगे और तानाशाही हैं।
राहूल का ट्वीट

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "जनता के मुद्दे - कमाई, महंगाई, BJP के मुद्दे - दंगा, तानाशाही।  देश को आगे बढ़ाना है तो बीजेपी की नकारात्मक सोच और नफ़रत की राजनीति को हराना है। आओ मिलकर ‘भारत जोड़ो।’ बता दें, फरवरी 2022 में थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर 13.11 फीसदी रहा था। थोक महंगाई दर का पिछले पांच महीने का ये उच्चतम स्तर है। जनवरी 2022 में महंगाई दर 12.96 फीसदी रही थी।  महंगाई दर बीते एक सालों से ज्यादा समय से लगातार दहाई के आंकड़ें में है। एक साल पहले थोक महंगाई दर 10.74 फीसदी पर था।
खुदरा के बढ़ी थोक महंगाई
वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल 2022 महीने में महंगाई दर की मुख्य वजह पेट्रोलियम नैचुरल गैस, मिनरल ऑयल, बेसिक मेटल्स की कीमतों में तेजी है जो रूस यूक्रेन युद्ध के कारण ग्लोबल सप्लाई चेन में पड़े व्यवधान से पैदा हुआ है। होमसेल महंगाई दर 15 फीसदी के पार जा पहुंचा है। जबकि बीते हफ्ते खुदरा महंगाई दर का आंकड़ा जिसके मुताबिक खुदरा महंगाई दर मई 2014 के बाद अपने उच्चतम स्तर 7.79 फीसदी पर रहा है।


 
facebook twitter instagram