पिता के शव के साथ बारात लेकर पहुंचा दूल्हा, वजह जानकर हो जायेंगी आपकी भी आंखे नम

ज्यादातर लोगों ने अग्नि के सामने एक जोड़े को सात फेरे लेते हुए देखा होगा। लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि किसी जोड़े ने एक शव के आगे सात फेरे करके अपनी शादी सम्पन्न की हो। रह गए न हैरान,लेकिन आपको बता दें कि ये घटना एकदम सच है। दरअसल ये घटना तमिलनाडु के विल्लुपुरम की है जहां पर बेटे की शादी से पहले पिता की मौत हो गई। जिसके बाद अपने पिता की आखिरी ख्वाहिश पूरी करने के लिए बेटे ने पिता के शव को सामने रख साते फेरे लिए।


31 साल के डी.अलेक्जेंडर की शादी आने वाली 2 सितंबर के दिन होनी थी,लेकिन बीते शुक्रवार के दिन अचानक से अलेक्जेंडर के पिता देवमणि की मौत हो गई। अपने बेटे की शादी को लेकर देवमणि बहुत काफी ज्यादा खुश थे और जोरो-शोरों से तैयारियों में लेग हुए थे। देवमणि चाहते थे कि वह अपने बेटे की शादी काफी धूमधाम से करें। लेकिन ऐसा कुछ मालूम नहीं था कि वह शादी से पहले ही इस दुनिया से अलविंदा कह जाएंगे। 

बेटे ने लिया कुछ अलग फैसला...

पिता की मौत के बाद अलेक्जेंडर ने यह फैसला लिया कि वह पिता के अंतिम संस्कार से पहले ही अपनी शादी कर लेंगे। ताकि वह अपने पिता की इच्छा को पूरी कर सके। इसके लिए अलेक्जेंडर ने अपनी होने वाली मंगेतर अन्नपूर्णानी बातचीत करी। अपने होने वाली पति की बात से अन्नपूर्णानी राजी हो गई और दोनों ही परिवार वालों ने शादी की तैयारियां करनी शुरू कर दी। बारात निकली। अन्नपूर्णानी और अलेक्जेंडर दोनों शादी के बंधन में बंध गए। 


शादी सम्पन्न हो जाने के बाद नए नवेले जोड़े ने परिवार और बाकी अन्य सदस्यों के साथ फोटो भी खिंचवाएं। इतना ही नहीं बारात में ले जाने के लिए शव को नहलाकर नए कपड़े भी पहनाए गए और शुक्रवार के दिन शादी हो जाने के बाद शनिवार के दिन शव का अंतिम संस्कार किया गया। 
Download our app
×