एक घंटे में डूबे 1.47 लाख करोड़

नई दिल्ली : आरबीआई की ओर से ब्याज दरें घटाने के बावजूद घरेलू शेयर बाजार तेज गिरावट के साथ बंद हुआ है। हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 433 अंक गिरकर 37,673 पर और एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 139 लुढ़कर 11,174 पर बंद हुआ है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि आरबीआई की ओर से जीउीपी ग्रोथ अनुमान घटाने से शेयर बाजार में गिरावट आई है। 

इस गिरावट से निवेशकों को आखिरी एक घंटे में 1.47 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। आखिरी एक घंटे में आई तेज गिरावट- वीएम पोर्टफोलियो के हेड विवेक मित्तल का कहना है कि आरबीआई की ओर से ग्रोथ का अनुमान घटाने के चलते सेंसेक्स-निफ्टी में तेज गिरावट देखने को मिली है। उन्होंने बताया कि ऊपरी स्तर से सेंसेक्स 650 अंक गिरकर बंद हुआ है। वहीं आखिरी एक घंटे में तेज बिकवाली हुई है। 

इस गिरावट में बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों की वैल्यू 1.47 लाख करोड़ रुपये गिर गई है। केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति की आज समाप्त तीन दिवसीय बैठक के बाद जारी बयानों में चालू वित्त वर्ष के लिए सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 6.1 प्रतिशत कर दिया गया। इससे पहले अगस्त में हुई बैठक में विकास दर 6.9 प्रतिशत रहने की बात कही गयी थी। इससे निवेश धारणा को गहरा धक्का लगा। 

बयान जारी होने से पहले तक मामूली उतार-चढ़ाव में रहा बाजार औंधे मुँह लुढ़ककर लाल निशान में चला गया। बैंकिंग एवं वित्तीय क्षेत्र में कारोबार करने वाली कंपनियों के साथ ही टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, बुनियादी वस्तुएँ, पूँजीगत वस्तुएँ और इंडस्ट्रियल्स समूहों ने बाजार पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया।

Tags : पटना,Patna,सुशील कुमार,Punjab Kesari,stunning,forgery,Millionaire,mask company ,BSE Sensex,Nifty,NSE