+

15 अगस्त से पहले ATS का एक्शन, कानपुर से जैश के आतंकी हबीबुल इस्लाम को किया गिरफ्तार

एटीएस ने से जुड़े हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला को गिरफ्तार किया है। इससे पहले सहारनपुर के एक आतंकवादी मोहम्मद नदीम को एटीएस ने हालही में गिरफ्तार किया था जिसके बाद आज उससे संबंध रखने के लिए हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला को गिरफ्तार किया गया।
15 अगस्त से पहले ATS का एक्शन, कानपुर से जैश के आतंकी हबीबुल इस्लाम को किया गिरफ्तार
स्वतंत्रता दिवस से पहले उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ता को एक बड़ी कामयाबी मिली है। एटीएस ने से जुड़े हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला को गिरफ्तार किया है। इससे पहले सहारनपुर के एक आतंकवादी मोहम्मद नदीम को एटीएस ने हालही में गिरफ्तार किया था जिसके बाद आज उससे संबंध रखने के लिए हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला को गिरफ्तार किया गया। 
बड़ी आतंकी साजिश का भंडाफोड़ 
अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने रविवार को जारी एक बयान में कहा कि नदीम के संपर्क में रहे जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकी हबीबुल इस्‍माल उर्फ सैफुल्लाह को कानपुर से एटीएस टीम ने गिरफतार किया है । 19 वर्षीय हबीबुल इस्लाम फतेहपुर जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के सैय्यदबाड़ा में रहता था, लेकिन मूल रूप से वह बिहार के मोतिहारी जिले के अधकपरिया, रामगढ़वा का निवासी है।कानपुर इकाई की एटीएस टीम हबीबुल को फतेहपुर से कानपुर ले आई और पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया।
पूछताछ में कई खुलासे 
एटीएस के अनुसार, 12 अगस्‍त को सहारनपुर से जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकी मोहम्‍मद नदीम की गिरफ्तारी के बाद प्रारंभिक पूछताछ में कई अहम सुराग मिले थे। बयान में कहा गया है कि हबीबुल ने पूछताछ में स्वीकार किया कि वह नदीम को जानता था और दोनों जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी नेटवर्क से जुड़े थे।
सोशल मीडिया से नेटवर्क बनाया 
एटीएस के अनुसार, हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला वर्चुअल आईडी बनाने में माहिर था और उसने नदीम के साथ-साथ पाकिस्तान और अफगानिस्तान में आतंकवादियों को लगभग 50 वर्चुअल आईडी बनाकर दी हैं। वह टेलीग्राम, व्हाट्सऐप और फेसबुक मैसेंजर जैसे विभिन्न सोशल मीडिया (प्लेटफॉर्म) के जरिए पाकिस्तान और अफगानिस्तान में आतंकी नेटवर्क से जुड़ा था। हबीबुल वर्चुअल आईडी के माध्यम से विभिन्न समूहों से जुड़ा हुआ था और समूह के अन्य सदस्यों को वर्चुअल आईडी भी प्रदान करता था।
वीडियो से जुड़े बड़े तार 
बयान के अनुसार, इन समूहों पर जिहादी वीडियो भेजे जा रहे थे। वह अन्य लोगों को जिहादी वीडियो भेजता था और उन्हें जिहाद के लिए प्रेरित करता था। जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तानी हैंडलर ने हबीबुल को जिहादी प्रशिक्षण लेने के लिए पाकिस्तान आने और फिर भारत में जिहाद करने के लिए कहा था।
बयान के मुताबिक, हबीबुल के पास से एक मोबाइल फोन, एक सिम और एक चाकू बरामद किया गया है। एटीएस ने कहा कि हबीबुल के भारतीय और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की गहन जांच की जा रही है और आगे की कार्रवाई की जा रही है। एटीएस हबीबुल के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुटी है।
एटीएस की बड़ी कार्रवाई 
उत्तर प्रदेश एटीएस ने 12 अगस्त को सहारनपुर से जैश-ए-मोहम्मद एवं अन्य संगठनों से जुड़े आतंकवादी नदीम (25) को गिरफ्तार किया था। एटीएस के बयान में दावा किया गया कि सहारनपुर जिले के गंगोह थाना क्षेत्र के ग्राम कुंडा कला निवासी मोहम्मद नदीम ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने नुपूर शर्मा की हत्या करने का जिम्मा दिया था।
नूपुर शर्मा पर हमले की साजिश 
भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपूर शर्मा हजरत पैगंबर पर कथित विवादित टिप्पणी के बाद सुर्खियों में आई थीं। नदीम जैश-ए-मोहम्मद एवं अन्य संगठनों से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था। बयान में कहा गया कि पूछताछ में नदीम ने स्वीकार किया कि वह 2018 से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के सीधे संपर्क में था। उसने यह भी स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी विशेष प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे, जिस पर वह वीजा लेकर पाकिस्तान और सीरिया जाने की योजना बना रहा था।
facebook twitter instagram