+

कृषि कानून : पंजाब विधानसभा में 2 दिवसीय विशेष सत्र शुरू, मुख्यमंत्री अमरिंदर लाएंगे विधेयक

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब में 19 अक्टूबर यानि आज से 2 दिवसीय विशेष सत्र शुरू हो गया है।
कृषि कानून : पंजाब विधानसभा में 2 दिवसीय विशेष सत्र शुरू, मुख्यमंत्री अमरिंदर लाएंगे विधेयक
केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब में 19 अक्टूबर यानि आज से 2 दिवसीय विशेष सत्र शुरू हो गया है, इस सत्र में राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्र के 3 कृषि कानूनों के खिलाफ एक विधेयक लाएंगे। विधेयक को मंगलवार को मंजूरी के लिए सदन में पेश किया जाएगा। हालांकि, विपक्षी दलों - आम आदमी पार्टी (AAP) और शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने विधेयक के प्रारूप को सार्वजनिक करने की मांग की है।

निवेश में सुधार और रोजगार पैदा करने के लिए कैबिनेट ने रविवार को फैक्ट्रीज अध्यादेश, 2020 को एक विधेयक में परिवर्तित करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी, जिसे सोमवार को विधानसभा में अधिनियम 1948 में संशोधन करने के उद्देश्य से लाया जा सकता है। विधेयक में मामलों के तेजी से निपटारे और अदालती कार्रवाई में कमी के अलावा, क्रमशः 10 और 20 से 20 और 40 के लिए छोटी इकाइयों के लिए मौजूदा सीमा को बदलने की सुविधा होगी। राज्य में छोटी इकाइयों द्वारा विनिर्माण में वृद्धि के साथ परिवर्तन आवश्यक हो गया है।
किसान संघर्ष समिति के अमृतसर जिला अध्यक्ष देविंदर सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कॉरपोरेट्स को लाभ पहुंचाने के लिए कृषि कानूनों की शुरुआत की थी, लेकिन किसान पंजाब में कानूनों को लागू नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा, ”प्रधानमंत्री अपने दोस्तों अंबानी और अडानी को लाभान्वित करने के लिए ऐसे कानून लाए हैं। पंजाब के किसान किसी को भी अपनी जमीन पर नियंत्रण नहीं करने देंगे और इन कानूनों को पंजाब में लागू नहीं होने दिया जाएगा।
facebook twitter instagram