+

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 4603 नये मामले सामने आये जबकि 50 और मौतों के साथ बृहस्पतिवार को मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 2280 हो गया।
उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत
उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 4603 नये मामले सामने आये जबकि 50 और मौतों के साथ बृहस्पतिवार को मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 2280 हो गया। अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में संक्रमण के 4603 नये प्रकरण सामने आये।

प्रदेश में संक्रमण के उपचाराधीन मामले 49709 हैं। प्रसाद ने बताया कि 88786 लोग पूर्णतया उपचारित होकर अपने घरों को चले गये हैं जबकि कोरोना संक्रमण के चलते अब तक 2280 लोगों की मौत हो गयी है। उन्होंने बताया कि बुधवार को प्रदेश में 87214 सैम्पल जांचे गये।

अब तक कुल 3501127 सैम्पल की जांच की जा चुकी है। पूल टेस्टिंग के माध्यम से बुधवार को ही पांच पांच सैम्पल के 2990 पूल लगाये गये, जिनमें से 435 पाजिटिव पाये गये जबकि दस दस पूल के 179 सैम्पल लगाये गये, जिनमें से 29 पाजिटिव निकले।

फेसलेस जांच और अपील से करदाताओं की शिकायतों का बोझ कम होगा, निष्पक्षता बढ़ेगी : सीतारमण

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि होम आइसोलेशन यानी घर पर एकांतवास में रहकर कुल 22408 लोग अपना इलाज करा रहे हैं। अब तक 43101 लोग होम आइसोलेशन में जा चुके हैं। इनमें से 20398 लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि कुछ और लोगों को छुट्टी दिये जाने की प्रक्रिया जारी है।

प्रसाद ने बताया कि निजी अस्पतालों में भुगतान के आधार पर 1653 लोग इलाज करा रहे हैं जबकि सेमी पेड एल-1 प्लस सुविधाओं में 186 लोगों का इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का लगातार इस्तेमाल किया जा रहा है और अब तक 876982 ऐसे लोगों को फोन किया जा चुका है, जिन्हें आरोग्य सेतु से अलर्ट आये हैं।

PM मोदी ने लांच किया 'ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन ऑनरिंग द ऑनेस्ट', देशवासियों से की आगे बढ़कर कर भुगतान की अपील

प्रसाद ने बताया कि 54919 इलाकों में अभी तक निषिद्ध क्षेत्र के दृष्टिकोण से निगरानी का कार्य किया गया है और 17065403 घरों में 85886280 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 'नॉन कोविड केयर' पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है।

गत वर्ष एक जून से 12 अगस्त तक 42528 बडी सर्जरी हुई थीं जबकि इस वर्ष इसी अवधि में 34139 बडी सर्जरी की गयीं हैं। इसी तरह पिछले साल एक जून से 12 अगस्त के बीच 71560 छोटी सर्जरी हुई थीं जबकि इस वर्ष इसी अवधि में 53623 छोटी सर्जरी की गयी हैं। जहां एक ओर हम कोविड पर ध्यान रख रहे हैं वहीं दूसरी ओर हमारा ध्यान नॉन कोविड केयर पर भी है।
facebook twitter