हिंसा के बीच पंजाब में अब 65.54 फीसदी मतदान, तलवंडी साबो में फायरिंग के बाद 12 कांग्रेसियों पर मामले दर्ज

लुधियाना : पिछले सवा 2 महीनों से चल रही चुनावी आपाधापी के बीच आखिर सातवें चरण की 59 लोकसभा चुनावों में पंजाब समेत अन्य प्रदेशों के मतदाताओं की 17वी लोकसभा सदस्य चुनने की प्रक्रिया वाली भूमिका आज शाम 6 बजे के बाद खत्म हो गई। चुनाव परिणाम 23 मई को घोषित होंगे। तत्पश्चात चुने हुए समस्त सांसद देश के भागय विधाता प्रधानमंत्री का चुनाव करेंगे।

आज रविवार को गुरूओं – पीरपेगमबरों की सरजमी सूबा पंजाब में 13 लोकसभा सीटों पर उतरे 278 उम्मीदवारों का भविष्य ईवीएम में बंद हो गया। इससे पहले पंजाबियों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते हुए अपने-अपने पसंदीदा प्रत्याशियों को चक-दे फटटे, दे दनादन की तर्ज पर दबा दे किली कहते हुए खूब वोटें डाली और डलवाई। पंजाब के चुनावों में फिल्मी अदाकार सन्नी देओल, पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल समेत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ और केंद्रीय पूर्व मंत्री मनीष तिवारी समेत हरदीप पुरी, की उम्मीदवारी दांव पर है। इनके अतिरिक्त आप के सूबा प्रधान भगवंत मान, सुखपाल खेहरा और पूर्व एसजीपीसी अध्यक्ष बीबी जगीर कोर भी अपने पसंदीदा इलाकों में सियासी नेताओं के विरूद्ध खंभ ठोके खड़े थे।

आज हुए सियासी दंगल में ऐसा पहली बार हुआ है कि आप सहित डेमेाके्रेटिक इलाइंस की 6 पार्टियां चुनावी मैदान में है। पंजाब पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों ने भी कानून व्यवस्था बनाएं रखने में अहम जिम्मेदारी निभाई। इसके बावजूद पंजाब के अलग-अलग हिस्सों से हिंसात्मक घटनाओं का ब्यौरा मिल रहा है। 2-4 स्थानों को छोडक़र पूरे पंजाब में चुनाव शांतमयी रहा।

पंजाब में अब तक 65.54 फीसदी मतदान होने की खबर है। चमकौर साहिब के कई बूथों पर 6 बजे के बाद भी वोटिंग जारी थी। हालांकि बाघा पुराना इलाके के गांव अजीतवाल में शाम 6 बजे तक 73 फीसदी मतदान होने की खबर है जबकि इसी इलाके के गांव ठठी बाई में 71 फीसदी मतदान होना बताया जा रहा है। पंजाब के औद्योगिक नगर लुधियाना में शाम 6 बजे तक 63.5 फीसदी मतदान की खबर मिली है। जबकि सीमावर्ती जिले फाजिलका में भी 66.17 फीसदी से अधिक मतदान होने की खबर है।

हिंसक घटनाओं में एक व्यक्ति की मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए। तलवंडी साबो में कांग्रेस और शिअद कार्यकर्ताओं के बीच टकराव के बाद बवाल मच गया। शिअद के कार्यकर्ता सडक़ों पर उतर आए। आखिर हलके के पूर्व विधायक की अगुवाई में लगे धरने के बाद प्रशासन ने घुटने टेकते जिला कांग्रेस कमेटी बठिण्डा देहात के प्रधान खुशबाज सिंह जटाना, तलवंडी साबो के 4 कांग्रेसी काउंसलर अजीस खां, नसीब सिंह, मंगू सिंह, हरवंश सिंह, ब्लॉक कांग्रेस प्रधान दिलप्रीत सिंह जगगा और शहरी कांग्रेसी प्रधान लक्की तलवंडी के विरूद्ध इरादा कत्ल, जाति सूचक बोलने समेत कई धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर दिया।

शिअद कार्यकर्ताओं का आरोप है कि कांग्रेस के बठिंडा देहाती प्रधान खुशबाज सिंह जटाना ने यहां स्कूल के बाहर बने शिअद के पोलिंग कैंप पर फायरिंग कर दी। इसके बाद हंगामा हो गया। फायरिंग में एक व्यक्ति घायल हो गया। शिअद कार्यकर्ताओं ने घटना के विरोध में स्कूल के मेन गेट को जाम कर दिया। इससे स्कूल के अंदर बनाए गए बूथ पर मतदान करीब डेढ़ घंटे तक रुका रहा। बाद में कांग्रेस के बठिंडा देहाती के प्रधान खुशबाज सिंह जटानासहित 23 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। शिअद कार्यकर्ताओं का कहना है कि खुशबाज सिंह जटाना मतदान के दौरान कुछ लोगों के साथ स्कूल में बनाए गए मतदान केंद्र के बाहर बन शिअद के कैंप के पास पहुंचे। जटाना ने वहां एक के बाद एक सात गोलियां चलाईं। उनके साथ आए लोगों ने वहां तोडफ़ोड शुरू कर दी और कुर्सियों आदि तोड़ दीं।

इसके बाद अकाली कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया और स्कूल के गेट के बाहर धरना देकर बैठ गए। इस कारण डेढ़ घंटे तक मतदान रुका रहा। बाद में जटाना सहित 11 लोगों का नामजद करते हुए मामला दर्ज किया गया। 12 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। इसेे बाद अकाली कार्यकर्ता शांत हुए और मतदान दोबारा शुरू हुआ।

पंजाब के 13 लोकसभा क्षेत्रों में गर्मी के बावजूद मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें लगी हुई हैं। लुधियाना में भी भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा एक शख्स से हुई मारपिटाई का मामला सामने आया है। स्थानीय भारतीय विद्या मंदिर स्कूल के बाहर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा एक नौजवान की मारपिटाई किए जाने के बारे में जानकारी देते प्रभावित नौजवान समित ने बताया कि वह वोट डालकर बाहर आ रहा था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने उसे घेर लिया और उससे मार पिटाई शुरू कर दी। समित ने इसकी सूचना पुलिस क ो दी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

फिरोजपुर शहर हलके के गांव रामेवाला में वोट डालकर आ रहे नंबरदार को कुछ अकालियों ने खूब मारा-पीटा। तेज हथियारों के हमले में जख्मी हुए पंच अंगे्रज सिंह नंबरदार को इलाज के लिए सिविल अस्पताल फिरोजपुर दाखिल करवाया गया है।

बठिंडा के तलवंडी साबो में भी हिंसा हुई है। यहां वार्ड नंबर 8 में अकाली व कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई। अकाली नेता जालौर सिंह घायल बताया जा रहा है। आरोप है कि कांग्रेसियों द्वारा गोली चलाई गई है। इस दौरान दोनों दलों के समर्थकों ने वहां जमकर तोडफ़ोड़ की और कुर्सियां तोड़ दी। इसी प्रकार बलजिंद्र कौर के हलके से गोलियां चलने के समाचार है।

उधर खडूर साहिब लोकसभा क्षेत्र के तरनतारन के गांव सरली में मतदान के दौरान झड़प में एक युवक की मौत हो गई है। मारा गया युवक कांग्रेस समर्थक बताया जाता है। वहीं सगरूर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के दो गुटों में झड़प हो गई। इसमें चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

होशियाारपुर में कांग्रेस और भाजपा में भिड़ंत हो गई। इसमें भी कुछ लोग घायल हो गए। फरीदकोट के गांव कांगड़ में शिअद कार्यकर्ताओं पर हमले हुआ। इस घटना में दो लोग घायल हो गए। गांव कांगड़ में पूर्व मंत्री मलूका की गाड़ी पर पथराव किया गया। इसमें मलूका बाल-बाल बच गए। उधर फिरोजपुर के गांव रमे वाला में वोट डालने जा रहे नंबरदार पर हमला कुछ लोगों ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।
इसी प्रकार अमृतसर के विधानसभा हलका राजासांसी के गांव जजे में बूथ के बाहर झगड़ा होने की खबर मिली है। हालांकि पुलिस ने मोके पर पहुंचकर हालात को काबू किया।

कई जगह मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें लगी हैं तो कुछ जगहों पर अभी कम संख्या में वोटर आए हैं। कुछ जगहों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें भी आई हैं। इस वजह से मतदान शुरू होने में देरी हुई है। मतदान के लिए कडी़ सुरक्षा की गई है। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ।

पंजाब में मतदाता कुल 13 सीटों पर 24 महिलाओं सहित 278 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला करेंगे और इसे ईवीएम में दर्ज करेंगे। राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए अर्द्धसैनिक बलों के 30 हजार और पंजाब पुलिस के 72 हजार जवान तैनात किए गए थे। बहरहाल रविवार को चुनावी उम्मीदवारों का भविष्य अब इवीएम में कैद हो गया है और 23 मई को तस्वीर साफ हो जाएंगी कि देश का भागय विधाता कौन होगा? पंजाब की सियासत किस और रूख करेंगी।

– सुनीलराय कामरेड

Download our app