+

पुणे में 24 सितंबर को 'जनाक्रोश आंदोलन' का नेतृत्व करेंगे आदित्य ठाकरे

फॉक्सकॉन-वेदांता डील गुजरात में शिफ्ट होने को लेकर महाराष्ट्र की सियासत का तापमान बढ़ता जा रहा है। इस मुद्दे को लेकर हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर तीखी टिप्पणी की।
पुणे में 24 सितंबर को 'जनाक्रोश आंदोलन' का नेतृत्व करेंगे आदित्य ठाकरे
फॉक्सकॉन-वेदांता डील गुजरात में शिफ्ट होने को लेकर महाराष्ट्र की सियासत का तापमान बढ़ता जा रहा है। इस मुद्दे को लेकर हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर तीखी टिप्पणी की। वहीं अब उद्धव ठाकरे के बेटे और शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने इस मुद्दे को लेकर "जनक्रोश आंदोलन" करेंगे।
महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना समेत विपक्ष ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार को इतने बड़े निवेश को हाथ से निकल जाने देने का आरोप लगाया है। इसको लेकर आदित्य ठाकरे 24 सितंबर को पुणे में "जनक्रोश आंदोलन" का नेतृत्व करेंगे।
दरअसल, वेदांता-फॉक्सकॉन सेमीकंडक्टर प्लांट डील पहले महाराष्ट्र के पुणे में लगने वाला था लेकिन कुछ दिनों पहेल इसे गुजरात के लिए डील कर लिया है। इस फैसले के बाद से महाराष्ट्र सरकार को विपक्ष के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। 

मेक इन इंडिया की पहल से 83 प्रतिशत एमएसएमई लाभान्वित हुए : जेपी नड्डा

इस विवाद पर टिप्पणी करते हुए उद्धव ठाकरे ने एक कार्यक्रम के दौरान सीएम शिंदे से पूछा, ''सीएम एकनाथ शिंदे आज फिर दिल्ली में 'मुजरा' करने गए हैं...महाराष्ट्र की परियोजनाएं दूसरे राज्यों में क्यों जाती हैं? वह इस बारे में पीएम (नरेंद्र मोदी) से बात क्यों नहीं करते? क्या उनमें इस पर बोलने की हिम्मत नहीं है?"  
आपको बता दें कि वेंदाता गुजरात में 1000 एकड़ जमीन पर ये प्लांट लगाएगी, जहां फॉक्सकॉन इस प्रोजेक्ट में तकनीकी भागीदार के रूप में काम कर रही है, वहीं तेल और धातु समूह पर अपनी पकड़ रखने वाली वेदांता परियोजना में पैसा लगा रही है।  



facebook twitter instagram