+

AAP ने नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के तौर पर पेश करने को लेकर कहा - पार्टी किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं

पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कुछ गैर-भाजपाई दलों द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश किए जाने के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि ‘आप’ किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं है और वह अपने राष्ट्रव्यापी विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है।
AAP ने नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के तौर पर पेश करने को लेकर कहा - पार्टी किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं
आम आदमी पार्टी (आप) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) से समान दूरी बनाए रखने का प्रयास करते हुए शुक्रवार को कहा कि यह निर्णय जनता दल (यूनाइटेड) (जदयू) और उसके सहयोगियों को करना है कि क्या वे नीतीश कुमार को 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाना चाहते हैं।
पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कुछ गैर-भाजपाई दलों द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश किए जाने के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि ‘आप’ किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं है और वह अपने राष्ट्रव्यापी विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है।सिंह से जब जदयू नेता को 2024 लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश किए जाने को लेकर ‘आप’ का रुख स्पष्ट करने को कहा गया, तो उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह उनका आंतरिक मामला है।’’
यह पूछे जाने पर कि क्या ‘आप’ प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार के रूप में कुमार का समर्थन करती है, राज्यसभा सदस्य सिंह ने कहा, ‘‘इस पर नीतीश कुमार के दल और उनके सहयोगियों को निर्णय करना है।’’उन्होंने कहा, ‘‘हम न तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और न ही संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) का हिस्सा हैं।’’पंजाब विधानसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल करने वाली ‘आप’ अपने राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को चुनौती देने में सक्षम एकमात्र व्यक्ति के रूप में पेश कर रही है।
सिंह ने कहा कि आप अपने राष्ट्रव्यापी विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है और पार्टी इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में काम कर रही है।उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी पार्टी का पूरा ध्यान अपने आधार को मजबूत करने और इसका देशव्यापी विस्तार करने, देश की मूलभूत समस्याओं को मुख्य मुद्दे बनाने और उनका समाधान निकालने पर केंद्रित है।’’सिंह ने कहा कि ‘आप’ ने पंजाब सहित पांच राज्यों में अकेले विधानसभा चुनाव लड़ा और पंजाब में पार्टी ने इस साल की शुरुआत में अपनी सरकार बनाई।उन्होंने कहा, ‘‘हम भाजपा शासित गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भी आगामी चुनाव अकेले लड़ेंगे।’’
facebook twitter instagram