+

भगवंत मान समेत आप नेताओं द्वारा कैप्टन के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन, कोठी का घेराव करने गए नेताओं को पुलिस ने किया भगवंत मान समेत आप नेताओं द्वारा कैप्टन के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन, कोठी का घेराव करने गए नेताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पंजाब के भारत-पाकिस्तान सरहदी जिले- तरनतारन, बटाला और अमृतसर में पिछले दिनों जहरीली- नाजायज शराब से हुई
भगवंत मान समेत आप नेताओं द्वारा कैप्टन के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन, कोठी का घेराव करने गए नेताओं को पुलिस ने किया भगवंत मान समेत आप नेताओं द्वारा कैप्टन के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन, कोठी का घेराव करने गए नेताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार
लुधियाना-एस.ए.एस नगर :  पंजाब के भारत-पाकिस्तान सरहदी जिले- तरनतारन, बटाला और अमृतसर में पिछले दिनों जहरीली- नाजायज शराब से हुई सैकड़ों जानें चली जाने के बाद आज आम आदमी पार्टी द्वारा पंजाब में अलग-अलग स्थानों पर राज्य सरकार का घेराव किया गया। इसी संंबंध में आज कैप्टन अमरेंद्र सिंह के घर का घेराव करने के पूर्व- नियोजित कार्यक्रम के तहत भगवंत मान और आप वरिष्ठ नेता पहुंचे तो रास्ते में ही पुलिस ने भारी बंदोबस्त के तहत उन्हें हिरासत में लेकर मोहाली के फेस वन में लाया गया। इनको मुल्लापुर बेरियर से मोहाली पुलिस स्टेशन लाया गया, जहां काफी देर तक आप नेताओं ने सूबा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।  
माझा के तीनों जिलों में जहरीली शराब के कारण करीब सवा 100 लोगों की जानें चली जाने के बावजूद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (जिनके पास गृह और आबकारी मंत्रालय भी हैं) की ओर से अभी तक लोगों में न जाने पर तीखा गुस्सा प्रकट करते हुए आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान मंगलवार को अपने विधायकों और नेताओं को साथ लेकर मुख्यमंत्री के आलीशान सिसवां ‘फार्म हाऊस’ पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह को ढूंढने गए, परंतु न्यू चण्डीगढ़ में पहले ही तैनात पुलिस फोर्स ने सभी ‘आप’ नेताओं को रोक लिया।
इस मौके भगवंत मान, हरपाल सिंह चीमा समेत बाकी ‘आप’ विधायकों और नेताओं के साथ पुलिस प्रशासन की तीखी नोक-झोंक भी हुई। पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी और पुलिस बैरीकेड कूदने की कोशिश के दौरान गढ़शंकर से विधायक  कृष्ण सिंह रोड़ी समेत कुछ नेता घायल भी हुए। 
इस मौके पंजाब सरकार की इस बेवज़्हा की सख्ती का तीखा विरोध करते हुए कहा, ‘‘जहां शरेआम माफिया जहर बेच रहा है, वहीं कांग्रेसी नेताओं/विधायकों/मंत्रियों ने पुलिस प्रशासन का माफिया के साथ अपवित्र गठबंधन करवाया हुआ है। जितनी मर्जी जहर बेचो  बस विधायक या मंत्री साहिब को शाम की ‘क्लैकशन’ का फिक्र रहता है। कोई सख्ती नहीं, पुलिस थानों से ‘रोजाना’ वसूली की जाती है और माफिया कभी चिट्टा और कभी जहरीली शराब बिना किसी डर बेखौफ होकर बेचता है। यहीं आज हम अपने लोगों के चुने हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को उसके ‘महल’ में जगाने चले हैं, पूरा इलाका ऐसे पुलिस छावनी में बदल दिया जैसे हम (‘आप’ वाले) कोई जुर्म करने जा रहे हों?’’ 
भगवंत मान ने कहा कि मुख्य विरोधी पक्ष के नाते समय-समय पर सरकार को जगाना पंजाब के लोगों की ओर से आम आदमी पार्टी की लोकतंत्र के अंतर्गत लगाई गई ड्यूटी है।
भगवंत मान ने कहा, ‘‘सवा 100 के करीब लोगों की जानें जा चुकीं हैं। यह कैसी ‘मोतियों वाली सरकार’ है, जो अपने पोते-दोहतों को जन्म दिन की बधाई देते हैं। बेझिझक होकर टिक-टॉक स्टारज के साथ बातें करते हैं। हमें कोई ऐतराज नहीं, परंतु उन उज्जड़े घरों का भी हाल-चाल पूछ लेना भी तो मुख्यमंत्री और उसके विधायकों-मंत्रियों का फर्ज है, जो सरकार के भ्रष्ट और माफिया राज की भेंट चढ़ गए हैं।
भगवंत मान ने कहा कि बेशक पंजाब सरकार और उसकी पुलिस हमें (आप) को जेलों में फैंक दे परंतु हम आम और व्यवस्था के सभी लोगों के लिए हर स्तर की जंग लड़ेंगे। जब तक कैप्टन और उसके मंत्री लोगों में जा कर नैतिक तौर पर इस्तीफे नहीं देंगे, इस लोक विरोधी सरकार के विरुद्ध हमारी आवाज नहीं दबेगी।
इस मौके नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि बादलों के माफीए राज की पूरी कमान अब कांग्रेसियों ने संभाली हुई है। चीमा ने कहा कि चण्डीगढ़ की पहाडिय़ों में सुखबीर सिंह बादल के ‘सुक्खबिलास’ के बिल्कुल साथ कैप्टन की ओर से अपना ‘शाही फार्म हाऊस’ बनाना इस बात की गवाही भरता है कि दोनों परिवारों में किस स्तर की सांझ पड़ चुकी है, जिस की कीमत पूरा पंजाब चुका रहा है।

- सुनीलराय कामरेड
facebook twitter