+

हैदराबाद में गिरफ्तारी के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद बोले- तानाशाही चरम पर है

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को हैदराबाद पुलिस ने कुछ समय के लिए हिरासत में लेने के बाद विमान में बिठा कर रवाना कर दिया और वह सोमवार की सुबह दिल्ली पहुंच गए।
हैदराबाद में गिरफ्तारी के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद बोले- तानाशाही चरम पर है
भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को हैदराबाद पुलिस ने कुछ समय के लिए हिरासत में लेने के बाद विमान में बिठा कर रवाना कर दिया और वह सोमवार की सुबह दिल्ली पहुंच गए। हैदराबाद में आजाद संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे जब उन्हें रास्ते में हिरासत में ले लिया गया था। 

‘‘जल्द लौटने’’ का वादा करते हुए दलित नेता ने सोमवार को तड़के ट्विटर पर कहा कि बहुजन समाज इस अपमान को कभी नहीं भूलेगा। सुबह नौ बजे के करीब दिल्ली पहुंचे आजाद ने कहा कि पुलिस ने प्रदर्शन करने के लोगों के अधिकार का हनन किया। 
उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों को पीटा भी गया। उन्होंने तेलंगाना मुख्यमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए ट्वीट किया, “तेलंगाना में, तानाशाही चरम पर है, लोगों से प्रदर्शन का अधिकार छीना गया, पहले हमारे लोगों पर लाठीचार्ज किया गया, फिर मुझे गिरफ्तार किया गया, अब मुझे हवाईअड्डे लाया जा रहा है और वापस दिल्ली भेजा रहा है। ‘‘याद रखना, बहुजन समाज यह अपमान भूलेगा नहीं। हम जल्द लौटेंगे।” 

आजाद के सहयोगियों ने बताया कि उनकी तबियत ठीक नहीं है और उन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ले जाया जाएगा। स्वस्थ रहने पर दलित नेता गुलबर्गा और बीदर में दो रैलियों को संबोधित करने मंगलवार को कर्नाटक जाएंगे। उन्होंने बताया कि वह 29 जनवरी को बेंगलुरु में दिवंगत पत्रकार गौरी लंकेश की बरसी में शामिल होने की भी योजना बना रहे हैं। 

हैदराबाद पुलिस ने कहा कि आजाद सीएए, एनआरसी और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लेकर जिस कार्यक्रम को संबोधित करने वाले थे, उसके लिए कोई इजाजत नहीं ली गई थी। गौरतलब है कि सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान लोगों को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किए गए आजाद को कुछ ही दिन पहले दिल्ली की तिहाड़ जेल से रिहा किया गया था। 
facebook twitter