+

पाकिस्तान को धमकी के बाद अफगानिस्तान ने भारत संग बढ़ाई नजदीकी, जानिये क्या है कूटनीतिक दांव

अफगानिस्तान के शहरी विकास और आवास मंत्रालय ने कहा हैं कि काबुल में भारतीय प्रभारी राजदूत, भरत कुमार ने दोनों देशों के बीच के संबंधों को सुधारने और दिल्‍ली की परियोजनाओं को फिर से शुरू करने में भारत की रुचि व्यक्त की है।
पाकिस्तान को धमकी के बाद अफगानिस्तान ने भारत संग बढ़ाई नजदीकी, जानिये क्या है कूटनीतिक दांव
अफगानिस्तान के शहरी विकास और आवास मंत्रालय ने कहा हैं कि काबुल में भारतीय प्रभारी राजदूत, भरत कुमार ने दोनों देशों के बीच के संबंधों को सुधारने और दिल्‍ली की परियोजनाओं को फिर से शुरू करने में भारत की रुचि व्यक्त की है भरत कुमार ने शहरी विकास और आवास मंत्री हमदुल्ला नोमानी के साथ एक बैठक में यह टिप्पणी की।
 देश में विकास को बढ़ावा मिलेगा
आपको बता दें कि शहरी विकास और आवास मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद कमाल अफगान ने कहा, "ये परियोजनाएं पूर्ववर्ती सरकार के दौरान लागू की गई थीं, लेकिन राजनीतिक परिवर्तन या अन्य मुद्दों के कारण उसमें देरी हुई। वे अब इनपरियोजनाओं को फिर सेशुरू करने में रुचि दिखा रहे हैं।" टोलो न्यूज़ ने बताया कि अर्थशास्त्रियों ने कहा है कि उनका मानना है कि भारतीय परियोजनाओं के कार्यान्वयन से अफगानिस्तान में नौकरी के अवसर बढ़ेंगे और देश में विकास को बढ़ावा मिलेगा।
बेरोजगारी होगी कम 
नुमानी ने आगे कहा, "भारत ने पूर्व में अफगानिस्तान में कुछ परियोजनाओं को लागू किया था, जबकि भुगतान न होने के कारण उनमें से कुछ अधूरी रह गई थीं।"उन्होंने भारत सरकार से अधूरी परियोजनाओं के बारे में भी अपना रुख स्पष्ट किया।स्थानीय लोगों का मानना है कि परियोजनाओं को लागू करने से नौकरी के अवसर बढ़ेंगे, गरीबी और बेरोजगारी कम होगी और देश में विकास को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा, अफगान इंजीनियरों की क्षमता को और बढ़ाने के लिए भारतीरसे नागरिक और शहरी विकास क्षेत्र में मास्टर और पीएचडी डिग्री के लिए अफगान नागरिकों को छात्रवृत्ति प्रदान करने का अनुरोध किया गया है।

facebook twitter instagram