+

अग्निपथ : असम में 'अग्निपथ' के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान सांसद, अन्य हिरासत में

कांग्रेस ने सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए केंद्र की ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ सोमवार को पूरे असम में विरोध प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ‘‘युवाओं को दीर्घकालिक रोजगार के अवसरों से वंचित कर रही है।’’
अग्निपथ :  असम में 'अग्निपथ' के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान सांसद, अन्य हिरासत में
कांग्रेस ने सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए केंद्र की ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ सोमवार को पूरे असम में विरोध प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ‘‘युवाओं को दीर्घकालिक रोजगार के अवसरों से वंचित कर रही है।
खालिक का दावा - शांतिपूर्ण ढंग से किये जा रहे प्रर्दशन को रोकने की गयी कोशिश 
लोकसभा सांसद अब्दुल खालिक और पार्टी की राज्य इकाई की मुख्य प्रवक्ता बोबीता शर्मा सहित पार्टी के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को दिन के दौरान विभिन्न प्रदर्शन स्थलों पर हिरासत में लिया गया। पूर्वी गुवाहाटी विधानसभा क्षेत्र के सिलपुखुरी इलाके में किये गये विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए खालिक ने दावा किया कि भाजपा सरकार अपनी नीतियों के खिलाफ शांतिपूर्ण ढंग से किये जा रहे प्रदर्शन को रोकने की कोशिश कर रही है।
हम शांतिपूर्ण ढंग से प्रर्दशन कर रहे हैं ,फिर भी पुलिस हमें ले जा रही हैं 
एक पुलिस वाहन में सवार होने से पहले उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा शांतिपूर्ण ढंग से किये जाने वाले विरोध प्रदर्शन से भी डरती है। हम कोई व्यवधान उत्पन्न नहीं कर रहे हैं। फिर भी, पुलिस हमें ले जा रही है।’’ प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि यह योजना न केवल ‘‘सुरक्षा बलों के मनोबल को कमजोर करेगी बल्कि युवाओं को उचित दीर्घकालिक रोजगार और सेवानिवृत्ति के बाद के लाभों से भी वंचित करेगी।
हिरासत में लिए गए लोगों को पुलिस ने कुछ ही देर बाद छोड़ा
शर्मा ने कहा, ‘‘हम शांतिपूर्वक विरोध कर रहे थे, लेकिन 30-45 मिनट के भीतर पुलिस ने वहां पहुंचकर हमें हिरासत में ले लिया।’’ उन्होंने कहा कि राज्य के सभी विधानसभा क्षेत्रों में इसी तरह के विरोध प्रदर्शन किए गए। उन्होंने कहा, ‘‘दिसपुर निर्वाचन क्षेत्र (गुवाहाटी में भी) के तहत नूनमती में प्रदर्शन कर रहे हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया गया।’’ उन्होंने कहा कि हिरासत में लिए गए सभी लोगों को बाद में रिहा कर दिया गया।
 
facebook twitter instagram