+

आगरा के पशु चिकित्सक ने BJP सांसद पर लगाया आरोप , कहा - मेनका गांधी ने फोन पर दीं गालियां

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा सांसद मेनका गांधी ने आगरा के एक पशु चिकित्सक को कथित रूप से गालियां दीं एवं उनका लाइसेंस रद्द कराने की धमकी दी है।
आगरा के पशु चिकित्सक ने BJP सांसद पर लगाया आरोप , कहा - मेनका गांधी ने फोन पर दीं गालियां
पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा सांसद मेनका गांधी ने आगरा के एक पशु चिकित्सक को कथित रूप से गालियां दीं एवं उनका लाइसेंस रद्द कराने की धमकी दी है।
सोशल मीडिया पर इस संबंध में ऑडियो क्लीप सामने आने के बाद विरोध शुरू हो गया जिसमें गांधी ने चिकित्सक एन एल गुप्ता की डिग्रियों पर भी प्रश्नचिन्ह लगाया है। वह एक व्यक्ति से उसके कुत्ते की सर्जरी करने की खातिर लिए गए धन को भी लौटाने के लिए कह रही हैं।
ऑडियो क्लीप में आवाज की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं की जा सकती है, लेकिन चिकित्सक ने आरोप लगाए कि उन्हें सीतापुर की सांसद ने फोन किया था।
आगरा के इंडियन वेटनरी एसोसिएशन के सदस्यों ने गांधी के खिलाफ नारेबाजी की।
कथित बातचीत के दौरान गांधी ने चिकित्सक के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग किया जबकि चिकित्सक उन्हें ‘‘मैडम’’ कहते सुनाई दे रहे हैं। सासंद ने उनसे कहा कि कुत्ते की सर्जरी के लिए ली गई धनराशि नहीं लौटाने की सूरत में जिलाधिकारी से कहकर उनका क्लीनिक बंद करवा देंगी। उन्होंने उन्हें जेल भेजने की धमकी भी दी है।
सांसद ने ऑडियो में कहा कि दूसरे डॉक्टर ने गुप्ता द्वारा की गई सर्जरी को खराब काम बताया।
गुप्ता ने बताया कि एक जून को ग्वालियर के आनंद अपने कुत्ते लेकर उनके क्लीनिक पर आए और उन्होंने पूरे प्रोटोकॉल के साथ कुते का ऑपरेशन किया था।
गुप्ता ने कहा, ‘‘मुझे सांसद मेनका गांधी का 21 जून को कुते की सर्जरी के बारे में फोन आया। उन्होंने मुझे कहा कि वह 70 हजार रुपये मुआवजे का भुगतान कुता मालिक को करें अन्यथा वह उनका लाइसेंस रद्द करा देंगी।’’
गुप्ता ने कहा कि उन्होंने कुता मालिक से सर्जरी के बाद उसका ख्याल रखने के लिए कहा था, लेकिन उसने ख्याल नहीं रखा। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने भारतीय पशु चिकित्सा संगठन को इस फोन कॉल से अवगत करा दिया है।’’
हाल में एक अन्य ऑडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था जिसमें गांधी सीतापुर में एक पुलिस अधिकारी से कथित तौर पर कह रही हैं कि एक कुत्ते की टांग तोड़ने के लिए एक व्यक्ति पर मामला दर्ज किया जाए और उसे थप्पड़ मारा जाए।
इस बीच मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी वी एस तोमर ने कहा, ‘‘घटना उनके संज्ञान में आया है और जांच जारी है कि डॉक्टर के पास वैध डिग्री है अथवा नहीं और उनकी क्लीनिक में उचित सुविधाएं हैं या नहीं।’’
facebook twitter instagram