नितिन गडकरी से मिले अहमद पटेल, बोले- महाराष्ट्र की राजनीति पर नहीं हुई कोई बात

वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के भरोसेमंद सहयोगी अहमद पटेल ने बुधवार को केन्द्रीय मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी से मुलाकात की। कांग्रेस में पर्दे के पीछे के समीकरणों को सेट करने में माहिर अहमद पटेल ने हालांकि बाद में कहा कि उन्होंने गडकरी के साथ बातचीत में महाराष्ट्र राजनीति के बारे में कोई चर्चा नहीं की। उन्होंने कहा,"मैंने महाराष्ट्र का ‘म’ तक नहीं कहा।" 

अहमद पटेल ने कहा, "गडकरी से मेरी मुलकात महाराष्ट्र की राजनीति के बारे में नहीं थी। मैं केन्द्रीय मंत्री के पास महाराष्ट्र के किसानों के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए गया था।" नितिन गडकरी और अहमद पटेल की मुलाकात का महत्व इस बात से और बढ़ गया है कि गडकरी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का करीबी माना जाता है और शिवसेना के नेताओं ने इस गतिरोध के समाधान के लिए संघ के नेतृत्व एवं गडकरी की मध्यस्थता का आग्रह किया है। 

महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर शिवसेना एवं भाजपा में जारी खींचतान के बीच गडकरी के निवास पर सोमवार को दो महत्वपूर्ण बैठकें हुईं हैं। बता दें कि भाजपा के मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह और महाराष्ट्र के निवर्तमान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गडकरी के साथ चर्चा की थी। उधर, कांग्रेस के खेमे में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार के बीच भी महाराष्ट्र की स्थिति पर मंत्रणा हुई थी। 

महाराष्ट्र: शिवसेना नेता संजय राउत बोले- अगर राष्ट्रपति शासन लगा तो हम जिम्मेदार नहीं होंगे

आपको बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा के 21 अक्टूबर को हुए चुनाव का 24 अक्टूबर को परिणाम आया जिसमें भाजपा-शिवसेना गठबंधन को पूर्ण बहुमत हासिल हुआ है। लेकिन शिवसेना मुख्यमंत्री पद एवं विभागों में 50-50 के फॉर्मूले के आधार पर सरकार बनाने की मांग पर अड़ी हुई है जबकि भाजपा मुख्यमंत्री पद, गृह मंत्रालय एवं विधानसभा अध्यक्ष के पद के लिए किसी भी प्रकार का समझौता करने को तैयार नहीं है। महाराष्ट्र में नौ नवंबर को नई सरकार के शपथग्रहण की तैयारियां होने की खबर है।
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Ahmed Patel,Maharashtra,Nitin Gadkari