+

अखिलेश ने Modi सरकार पर साधा निशाना , कहा - अग्निवीरों से पहले सेवानिवृत्त सैनिकों को नौकरियां दें कंपनियां

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि जो लोग अपनी कंपनियों में अग्निवीरों को सेना में सेवा समाप्त होने के बाद नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं
अखिलेश ने Modi सरकार पर साधा निशाना , कहा - अग्निवीरों से पहले सेवानिवृत्त सैनिकों को नौकरियां दें कंपनियां
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि जो लोग अपनी कंपनियों में अग्निवीरों को सेना में सेवा समाप्त होने के बाद नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं, उन्हें पहले सेवानिवृत्त सैनिकों को रोजगार देकर अपनी इस कथनी को सिद्ध करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि वह ऐसे सैनिकों की सूची उन लोगों को भेज देंगे।
उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने भाजपा से अपने उन सदस्यों समर्थकों की सूची जारी करने को कहा जो अपने बच्चों को इस (अग्निपथ) योजना के तहत सेना में भेज रहे हैं।
यादव ने एक ट्वीट में कहा, 'हम उन बड़े लोगों का सहयोग करना चाहते हैं जो अपनी कंपनियों और कार्यालयों में अग्निवीरों को नौकरी देने का वादा कर रहे हैं ताकि युवा उन पर विश्वास कर सकें। हम उन्हें आज ही तत्काल सेवानिवृत्त सैनिकों की सूची भेज रहे हैं।'
उन्होंने कहा, 'उन सेवानिवृत्त सैनिकों को तत्काल अपनी कंपनियों और कार्यालय में नौकरी देकर वे अपने दावे की गंभीरता सिद्ध कर सकते हैं जिससे भावी अग्निवीर चार साल बाद उन पर विश्वास कर सकें। करनी से विश्वास कायम होगा ना कि कथनी से।'
एक अन्य ट्वीट में यादव ने कहा, 'भाजपा जिस तरह से अपने समर्थकों से अग्निवीर के तथाकथित लाभ गिनवाने की कोशिश कर रही है, उससे बेहतर होगा कि भाजपा अपने उन सदस्यों समर्थकों की सूची जारी करे जो अपने बच्चों को इस योजना के तहत (सेना में) भेज रहे हैं।'
अग्निपथ केंद्र की सेना भर्ती योजना है। महिन्द्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा, आरपीजी एंटरप्राइसेस के चेयरमैन हर्ष गोयनका और बायोकान लिमिटेड की चेयरपर्सन किरण मजूमदार शा सहित विभिन्न उद्योगपति सोमवार को अग्निपथ योजना के समर्थन में आ गए और कहा कि कॉरपोरेट क्षेत्र में युवाओं के लिए इस योजना के तहत रोजगार की भारी संभावना है।
यादव ने कन्नौज में कहा कि अग्निपथ योजना का विरोध नौजवान ही नहीं कर रहे बल्कि पूरे देश में इसका विरोध हो रहा है। इस योजना से फौज को आउटसोर्स करना है।
छिबरामऊ में एक श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शिरकत करने आए यादव ने कहा, ‘‘फौज में लोग देश सेवा के लिए आते हैं। गरीब किसान के बेटे फौज में भर्ती के लिए सड़कों व खेतों में दौड़ लगाते हैं। युवा दिन रात मेहनत कर फौज में भर्ती होकर सपना साकार करता है लेकिन सरकार ने उनका सपना तोड़ दिया है।’’
उन्होंने आरोप लगाया कि उद्योगपति की सुरक्षा के लिए प्रशिक्षित लोग तैयार किए जाएं ताकि उद्योगपतियों की सुरक्षा हो सके। आखिर उनकी सुरक्षा कौन करेगा।
आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव में पार्टी का प्रचार करने के लिए नहीं जाने के कारण के बारे में पूछने पर यादव ने दावा किया कि दोनों ही सीटों के उपचुनाव सपा जीत रही है।
facebook twitter instagram