+

क्रॉस वोटिंग से परेशानी में अखिलेश यादव, चाचा को पार्टी से किनारे कर बुलाई बैठक

सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मुश्किलें धीरे-थीरे बढ़ती ही जा रही हैं। राष्ट्रपति चुनाव में न अपने सहयोगी दल को साधकर रख पाए और न अपनी पार्टी के विधायकों को क्रॉस वोटिंग करने से रोकने में सक्षम हो पाए। ऐसे में अखिलेश यादव ने अपने सहयोगी ओम प्रकाश राजभर व चाचा शिवपाल यादव से किनारा कर लिया है।
क्रॉस वोटिंग से परेशानी में अखिलेश यादव, चाचा को पार्टी से किनारे कर बुलाई बैठक
सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मुश्किलें धीरे-थीरे बढ़ती ही जा रही हैं। राष्ट्रपति चुनाव में न अपने सहयोगी दल को साधकर रख पाए और न अपनी पार्टी के विधायकों को क्रॉस वोटिंग करने से रोकने में सक्षम हो पाए। ऐसे में अखिलेश यादव ने अपने सहयोगी ओम प्रकाश राजभर व चाचा शिवपाल यादव से किनारा कर लिया है। वहीं उन दोनों से कहा है कि उन्हें जहां ज्यादा सम्मान मिले वो वहां जा सकते हैं। इसके बाद सवाल यह भी उठ रहा है कि अखिलेश यादव उन विधायकों के खिलाफ एक्शन कब लेंगे, जिन्होंने क्रॉस वोटिंग कर द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में वोट डाला था। 
अखिलेश यादव ने बुलाई पार्टी की बैठक
वहीं, समाजवादी पार्टी गठबंधन से अब दो और पार्टियां अलग हो गई हैं। हाल ही में सपा ने पत्र जारी कर ओम प्रकाश राजभर और शिवपाल सिंह यादव को पार्टी से बाहर कर दिया। इन दोनों पार्टियों का गठबंधन छोड़ने के बाद अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। सपा विधायकों की यह बैठक 26 जुलाई यानी कल पार्टी कार्यालय लखनऊ में होगी।
दरअसल, अखिलेश यादव ने 26 जुलाई को पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई है। लखनऊ में होने वाली इस बैठक में पार्टी के सभी विधायक शामिल होंगे। इस बैठक में पार्टी को एकजुट करने की रणनीति बनाने की संभावना पर चर्चा की जाएगी। चुनाव में हार के बाद बिखरा गठबंधन अब अखिलेश यादव के लिए चुनौती बन गया है। वहीं सपा का सदस्यता अभियान भी जारी है। माना जा रहा है कि पार्टी को मजबूत करने के अलावा आगे की रणनीति पर भी चर्चा होगी। 
यशवंत सिंहा को दिया था अखिलेश यादव ने समर्थन 
राष्ट्रपति चुनाव में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने यशवंत सिंहा को समर्थन दिया था और उनके पक्ष में पार्टी ने वोटिंग के लिए व्हीप भी जारी कर रखा था। इसके बावजूद सपा के करीब आधा दर्जन विधायकों ने पार्टी के खिलाफ जाकर द्रौपदी मुर्मू को वोट डाल दिया। ऐसे में ओम प्रकाश व शिवपाल को पार्टी से किनारा करने के बाद सपा पर क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायकों के खिलाफ एक्शन लेने का दबाव बढ़ गया है। 
बड़े एक्शन की तैयारी में अखिलेश यादव
इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव में सपा विधायकों द्वारा की गई क्रॉस वोटिंग भी काफी चर्चा में रही थी। बताया जा रहा है कि पार्टी इन विधायकों को ट्रेस कर रही है। अब बताया जा रहा है कि अखिलेश समाजवादी पार्टी में बड़े एक्शन की तैयारी में हैं। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के दिन दो विधायकों के क्रॉस वोटिंग की खबर सामने आई थी। फिर शिवपाल सिंह यादव समेत सपा के पांच विधायकों की क्रॉस वोटिंग की बात चल रही है। अब उन सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायक कौन हैं, लेकिन पार्टी को कुछ ऐसे नाम पता चले हैं, जो संदिग्ध हैं।
facebook twitter instagram