+

अलीगढ़ मामला : पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा- दलित लड़की का गला दबाने से हुई मौत, रेप का कोई स्पष्ट सबूत नहीं

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में खेत से रविवार को नाबालिग का शव बरामद होने के मामले पर पुलिस ने कहा कि शव की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में उससे दुष्‍कर्म के स्‍पष्‍ट साक्ष्‍य नहीं मिले हैं।
अलीगढ़ मामला : पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा- दलित लड़की का गला दबाने से हुई मौत, रेप का कोई स्पष्ट सबूत नहीं
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में खेत से रविवार को नाबालिग का शव बरामद होने के मामले पर पुलिस ने कहा कि शव की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में उससे दुष्‍कर्म के स्‍पष्‍ट साक्ष्‍य नहीं मिले हैं। अलीगढ़ पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पाया गया है कि लड़की का गला दबाया गया था। 
उल्लेखनीय है कि अलीगढ़ के अकबराबाद क्षेत्र में खेत में चारा लेने गई किशोरी का शव अर्द्धनग्‍न अवस्‍था में पाया गया था। किशोरी के परिजन ने दुष्‍कर्म के बाद उसकी हत्‍या किए जाने का आरोप लगाया है। इस घटना से नाराज लोगों ने आगरा मार्ग को अवरुद्ध कर दिया था। ग्रामीणों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने की कोशिश कर रहे पुलिस दल पर हमला कर दिया था, जिसमें पुलिस निरीक्षक प्रणेंद्र कुमार घायल हो गये। अलीगढ़ के वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मुनिराज जी ने सोमवार रात पत्रकारों से कहा, ‘‘दलित किशोरी की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में दुष्‍कर्म के स्‍पष्‍ट साक्ष्‍य नहीं मिले हैं।'' 
एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने दुष्‍कर्म की पुष्टि के लिए वजाइनल (योनि) स्‍वैब का उपयोग करके सूक्ष्‍म‍जीवविज्ञान जांच कराने का निर्णय लिया है। उन्‍होंने कहा, ''पोस्‍टमार्टम की प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की गई ह‍ै। पीड़िता के शरीर पर चोट के कई निशान थे और उसकी मौत गला दबाने से हुई है।'' 
पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को पूछताछ के लिए पकड़ा है। अब तक की पूछताछ से कुछ भी स्‍पष्‍ट नहीं हुआ है। इस मामले में पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धाराओं 302(हत्‍या) एवं 376 (बलात्‍कार) और पॉक्‍सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। एसएसपी ने कहा कि पीड़ित परिवार को पर्याप्त वित्तीय सहायता मुहैया कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। 


facebook twitter instagram