+

अमेरिका की अपने नागरिकों को सलाह, कहा -पाकिस्तान जाने से करे परहेज, हो सकता हैं आतंकी हमला

संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने अपने नागिरकों से पाकिस्तान की यात्रा न करने का आग्रह किया हैं। अमेरिका को खुफिया रिपोर्ट के आधार पर लगा हैं कि पाकिस्तान में चरमपंथी संगठन विदेशी लोगों को अपना निशाना बना सकते हैं।
अमेरिका की अपने नागरिकों को सलाह,  कहा -पाकिस्तान जाने से करे परहेज, हो सकता हैं आतंकी हमला
संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने अपने नागिरकों से पाकिस्तान की यात्रा न करने का आग्रह किया हैं।  अमेरिका को खुफिया रिपोर्ट के आधार पर लगा हैं कि पाकिस्तान में चरमपंथी संगठन विदेशी लोगों को अपना निशाना बना सकते हैं। अमेरिका ने सूचना जारी करते हुए कहा की पाकिस्तान में आतंकवादी सांप्रदायिक हिंसा फैला सकते हैं।  जिस कारण अमेरिकी नागरिकों हिंसा के लिए सवेदनशील इलाकों में जाने से कोताही बरते।  खतरे के कारण संवेदन शील इलाकों में यात्रा करने के लिए नागरिकों को पुर्नविचार करना चाहिए। अमेरिका गुरुवार को  यानि आज जारी लेवल 3 की ट्रैवल  सूचना  में अपने नागरिकों से आतंकवाद और अपहरण की घटनाओं के कारण बलूचिस्तान और पूर्व संघ शासित कबायली क्षेत्र (एफएटीए) समेत खैबर पख्तूनख्वा (केपीके) प्रांत की यात्रा नहीं करने का आग्रह किया है।
कब जारी  की जाती हैं स्तर तीन की यात्रा सूचना  
अमेरिका ने अपनी सलाह में कहा नागरिकों हिंसा प्रभावित इलाकों में यात्रा करने के लिए पुर्नविचार करना चाहिए, पाकिस्तान के कुछ कट्टपंथ की जद में आने वाले क्षेत्रों में आतंकवाद द्वारा हिंसा होने की प्रबल संभावना हैं।  क्योंकि तीन स्तर की यात्रा सूचना तब जारी की जाती हैं, तब  जब दीर्घकालिक या गंभीर स्थितियों के कारण यात्रियों और आगंतुकों को जोखिम होता है, इस दौरान गैरजरूरी यात्रा करने के लिए मना किया जाता हैं।  लेकिन अमेरिका भारत पाक सीमा पर भी यात्रा करने से परहेज करना का आग्रह किया हैं ।    
कहां हमला कर सकते हैं पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन
अमेरिका ने अपनी सूचना में नागरिकों को सतर्क करते हुए कहा कि आतंकवादी बिना किसी चेतावनी दिए ही हमले की वारदात को अंजाम दे सकते हैं ।  आतंकवादी सावर्जनिक स्थानों को अपना निशाना बना सकते हैं , जैसे परिवहन केंद्रों, बाजारों, शॉपिंग मॉल, सैन्य प्रतिष्ठानों, हवाई अड्डों, विश्वविद्यालयों, पर्यटन स्थलों, स्कूलों, अस्पतालों, पूजा स्थलों निम्माकिंत हैं।  
आपको बता दे की अमेरिका ने खुफिया रिपोर्ट के आधार पर कई बार पाकिस्तान जाने से नागरिकों को सतर्क किया हैं , पाकिस्तान में इस्लामिक कट्टरपंथ उबाल मार रहा हैं , अफगानिस्तान की तर्ज पर पाकिस्तान में भी आंतकी संगठन इस्लामिक शासन की कुव्वत लाने के लिए निर्दोष नागरिकों को निशाना बना रहे हैं, ताकि इस्लामिक शासन स्थापित जा सके हैं । पाकिस्तान के अंदर कई आतंकी संगठन हमले की वारदात को अंजाम दे चुके हैं । पाकिस्तान में टीटीपी नाम का आंतकवादी संगठन पाकिस्तान में इस्लामिक शासन की कुव्वत लाने के लिए निर्देोष नागरिकों की जान ले रहा हैं । अक्सर आतंकवादी संगठनों को पाकिस्तान ने शुरूआत में पालन पोषण किया हैं , जिस कारण पाकिस्तान आतंकवाद प्रसारित करने के नाम से दुनिया में जाना जाने लगा हैं । पूर्व पीएम इमरान खान अपनी अमेरिकी यात्रा में यह कबूल कर चुके हैं दुनिया के खूंखार आंतकवादियों को पाकिस्तान में संरक्षण मिलता रहा हैं ।
facebook twitter instagram