+

अमित शाह ने की देशवासियों से कोरोना के विरुद्ध चलाए जा रहे ‘जन आंदोलन’ से जुड़ने की अपील

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना के विरुद्ध शुरु किए गए जन आंदोलन से जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि ऐसी वैश्विक महामारी से तभी लड़ा जा सकता है
अमित शाह ने की देशवासियों से कोरोना के विरुद्ध चलाए जा रहे ‘जन आंदोलन’ से जुड़ने की अपील
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना के विरुद्ध गुरुवार को शुरु किए गए ‘‘जन आंदोलन’’ से जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि ऐसी वैश्विक महामारी से तभी लड़ा जा सकता है जब समस्त देशवासी एक साथ आएं।
उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से तभी लड़ा जा सकता है जब समस्त देशवासी एक साथ आयें। आइए, हम सब मिलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना के विरुद्ध चलाए जा रहे इस जन आंदोलन से जुड़ें और सभी को इस महामारी के प्रति जागरूक कर कोरोना मुक्त भारत बनाने में एक अहम भूमिका निभाएं।
उन्होंने कहा कि मास्क पहनना, दो गज की दूरी का पालन करना और बार-बार हाथ धोना ही कोरोना से बचाव के तीन मंत्र हैं। प्रधानमंत्री के इस आह्वान को सुरक्षा मंत्र मानकर लोग न सिर्फ स्वयं को सुरक्षित रखें बल्कि अपने परिजनों, दोस्तों और सहकर्मियों को भी सुरक्षित करें। प्रधानमंत्री ने इससे पहले आगामी त्योहारों और ठंड के मौसम के मद्देनजर कोविड-19 से निपटने के लिए लोगों को 'जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं ' का मंत्र देते हुए ट्विटर पर एक जन आंदोलन की शुरुआत की।


उन्होंने लोगों से कोरोना संक्रमण के खिलाफ संघर्ष में एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि जब तक कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कोई टीका नहीं बन जाता तब तक उन्हें हर सावधानी बरतनी है और तनिक भी ढिलाई नहीं करनी है।उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में ट्वीट कर कहा, आइए, कोरोना से लड़ने के लिए एकजुट हों! हमेशा याद रखें: मास्क जरूर पहनें। हाथ धोते रहें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।‘दो गज की दूरी’ रखें। ‘‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं।’’
facebook twitter instagram