हिंदी पर अमित शाह का बयान संघीय ढांचे के खिलाफ : वीरप्पा मोइली

05:10 PM Sep 18, 2019 | Pinki Nayak
हिंदी को देश की एक समान भाषा बनाने की वकालत करने के लिए गृह मंत्री अमित शाह को आड़े हाथ लेते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी नेता वीरप्पा मोइली ने बुधवार को कहा कि शाह का बयान भारत के संघीय ढांचे के खिलाफ है और उन्हें देश की एकता के लिए बयान वापस लेना चाहिए। 

बीजेपी अध्यक्ष शाह ने शनिवार को देश भर के लिए एक समान भाषा की वकालत करते हुए कहा था कि हिंदी वह भाषा है जो सर्वाधिक बोली जाती है और पूरे देश को एक कर सकती है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने एक बयान में कहा, ‘‘बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के ‘एक देश, एक भाषा’, ‘एक देश, एक चुनाव’ जैसे हालिया बयान संघीय ढांचे और भारत के लोकतंत्र के खिलाफ हैं।’’ 

लद्दाख में सेना-वायुसेना ने चीन को दिखाई ताकत, किया युद्ध का अभ्यास

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह संविधान में दर्ज सिद्धांतों के भी खिलाफ हैं। उन्होंने कहा, ‘‘भारत जैसे देश का गृहमंत्री जनता के मन में इस तरह की आशंका कैसे पैदा कर सकता है जो वास्तव में संघीय ढांचे के खिलाफ है। देश की एकता के लिए सबसे अच्छा होगा कि अमित शाह ऐसे बयान वापस ले लें।’’ 

Related Stories: