+

कांग्रेस vs कांग्रेस की लड़ाई में आनंद शर्मा बोले- चिंतित हूं मेरा मकसद पार्टी को मजबूत करना है कमजोर नहीं

कांग्रेस के अपने नेताओं को यह कहने के बाद कि चुनाव में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में हाथ मिलाएं, पार्टी के असंतुष्ट नेता आनंद शर्मा ने कहा कि वह पार्टी के लिए चिंतित हैं और इसे कमजोर नहीं होने देना चाहते।
कांग्रेस vs कांग्रेस की लड़ाई में आनंद शर्मा बोले- चिंतित हूं मेरा मकसद पार्टी को मजबूत करना है कमजोर नहीं
कांग्रेस के अपने नेताओं को यह कहने के बाद कि चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ लड़ाई में हाथ मिलाएं, पार्टी के असंतुष्ट खेमे के नेता आनंद शर्मा ने कहा कि वह पार्टी के लिए चिंतित हैं और इसे कमजोर नहीं होने देना चाहते। उन्होंने कहा कि पार्टी की अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी के लिए उनके मन में काफी सम्मान है। गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी में राहुल गांधी के वफादारों और असंतुष्टों के बीच आंतरिक लड़ाई तेज होती जा रही है। 
लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चा (आईएसएफ) के साथ गठबंधन का बचाव करने पर आनंद शर्मा ने कहा कि पार्टी में इस मसले पर बातचीत होनी चाहिए। आनंद शर्मा ने कहा कि असंतुष्ट नेताओं के बयानों को सही संदर्भ में लेना चाहिए और उनका मकसद पार्टी को मजबूत करना है न कि कमजोर करना। उन्होंने कहा कि वह पार्टी की लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष विचारधारा के तहत काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 
उन्होंने कहा, आगामी विधानसभा चुनावों में, हम प्रत्येक कांग्रेस उम्मीदवार की जीत की कामना करते हैं और पार्टी जहां भी कहेगी, प्रचार करेंगे। इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस ने असंतुष्ट नेताओं को भाजपा का मुकाबला करने के लिए पार्टी के साथ हाथ मिलाने के लिए कहा और आईएसएफ और वाम दलों के साथ गठबंधन के बारे में पार्टी के रुख को स्पष्ट किया।

facebook twitter instagram