आंध्र प्रदेश नाव हादसा : मृतकों की संख्या 12 तक पहुंची, 21 लोगों की तलाश जारी

आंध्र प्रदेश में नाव डूबने की दुर्घटना में एक नवजात बच्चे समेत चार लोगों के शव सोमवार सुबह मिलने से अब मरने वालों की संख्या 12 हो गई है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। नौसेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और राज्य अधिकारी लापता 21 लोगों की गहन तलाश में जुटे हैं। 

राज्य आपदा प्रबंधक अथॉरिटी (एसडीआरएफ) के सूत्रों ने बताया कि रविवार रात तक आठ लोगों के शव नदी से निकाले गए थे और सोमवार सुबह अन्य चार शव पूर्वी गोदावरी जिले के दुर्घटनास्थल कछुलूर से बरामद किए गए। नौसेना के एक हेलीकॉप्टर और ओएनसीजी के एक हेलीकॉप्टर को सेवा में लगाया गया है जबकि एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के कर्मचारी आठ नावों का इस्तेमाल लोगों की तलाश के लिए कर रहे हैं। 

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तिहाड़ जेल में मनाएंगे अपना 74वां जन्मदिन

दोवालेश्वरम के सर आर्थयर कॉटन बराज के दरवाजे बंद कर दिए गए ताकि लोगों के शव बहकर नीचे न चले जाएं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने दु्र्घटनास्थल का हवाई दौरा किया। दरअसल ’रॉयल वशिष्ठ’ नाम की नाव प्राकृतिक छटा वाले पापीकोंडला जा रही थी। 


नदी के मध्य में पहुंचने पर नौका दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। ऐसा प्रतीत होता है कि नौका किसी बड़ी चट्टान से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। टुटगुंटा के ग्रामीणों ने 27 लोगों को इस दुर्घटना में बचाया। 

Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,Andhra Pradesh,boat accident