+

राज्यसभा में कृषि बिल पास होने से नाराज विपक्ष उपसभापति के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव

राज्यसभा में ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020’ तथा ‘कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा करार विधेयक 2020’ को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया।
राज्यसभा में कृषि बिल पास होने से नाराज विपक्ष उपसभापति के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव
राज्यसभा में विपक्ष के ज़ोरदार हंगामे के बीच रविवार को ध्वनिमत से कृषि से जुड़े दो बिलों को पास कर दिया गया। बिल पास होने से नाराज विपक्ष ने राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश कर दिया। बिल पास होने के बाद सदन से बाहर आए कांग्रेस सांसद अहमद पटेल ने कहा कि इस दिन को इतिहास के काले दिन के रूप में जाना जाएगा।
अहमद पटेल ने कहा, उन्हें (राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश) को लोकतांत्रिक परंपराओं की रक्षा करनी चाहिए, लेकिन इसके बजाय, उनके रवैये ने आज लोकतांत्रिक परंपराओं और प्रक्रियाओं को नुकसान पहुंचाया है। उनके इस रवैये को देखते हुए हमने उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया।
उन्होंने कहा, यह दिन इतिहास में 'काला दिन' के रूप में जाना जाएगा। जिस तरह से ये बिल पारित किए गए हैं, वह लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं और राशियों के खिलाफ लोकतंत्र की हत्या के लिए जाता है। राज्यसभा में रविवार को ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020’ तथा ‘कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा करार विधेयक 2020’ को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया है।
facebook twitter