+

भारत ने चीन को दिया एक और झटका, सरकार ने रंगीन टेलीविजन के आयात पर लगाया प्रतिबंध

विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा, "रंगीन टेलीविजन की आयात नीति को मुक्त से बदलकर प्रतिबंधित कर दिया गया है।’’
भारत ने चीन को दिया एक और झटका, सरकार ने रंगीन टेलीविजन के आयात पर लगाया प्रतिबंध
सरकार ने रंगीन टेलीविजन के आयात पर बृहस्पतिवार को प्रतिबंध लगा दिया। इस कदम का उद्देश्य टेलीविजन के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना और चीन जैसे देशों से गैर-जरूरी वस्तुओं के आयात को कम करना है। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा, "रंगीन टेलीविजन की आयात नीति को मुक्त से बदलकर प्रतिबंधित कर दिया गया है।’’
यह आयात प्रतिबंध 36 सेंटीमीटर से लेकर 105 सेंटीमीटर से अधिक की स्क्रीन आकार वाले रंगील टेलीविजन सेट के साथ ही 63 सेंटीमीटर से कम स्क्रीन आकार वाले एलसीडी टेलीविजन सैट भी प्रतिबंध की श्रेणी में हैं। किसी सामान को प्रतिबंधित आयात की श्रेणी में डालने का अर्थ होता है कि उक्त सामान के आयातक को आयात के लिये वाणिज्य मंत्रालय के डीजीएफटी से लाइसेंस लेना होगा।
भारत को टीवी का निर्यात करने वाले प्रमुख देशों में चीन, वियतनाम, मलेशिया, हांगकांग, कोरिया, इंडोनेशिया, थाईलैंड और जर्मनी शामिल हैं। भारत ने 2019-20 में 78.1 करोड़ डॉलर मूल्य के रंगीन टीवी आयात किये। वियतनाम और चीन से आयात पिछले वित्त वर्ष में क्रमशः 42.8 करोड़ डॉलर और 29.3 करोड़ डॉलर का हुआ।
पैनासोनिक इंडिया के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनीष शर्मा ने इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अब उपभोक्ताओं को उच्च गुणवत्ता वाले एसेम्बल्ड टीवी सेट उपलब्ध होंगे। गौरतलब है कि देश में सर्वाधिक रंगीन टेलीविजन सेट चीन से ही आयात किए जाते हैं। गलवान घाटी में 15 जून को भारत और चीन के सैनिकों के संघर्ष के बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने 106 चीनी ऐप प्रतिबंधित कर दिये हैं। कई हजार करोड रुपए के चीनी कंपनियों को दिये ठेके रद्द किये जा चुके हैं।

facebook twitter