+

Nationwide Vaccination : टीकाकरण अभियान में भारत ने बनाया रिकॉर्ड, पार किया 100 करोड़ का जादुई आंकड़ा

भारत में 15 जनवरी 2021 से शुरू हुए देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत 21 अक्टूबर तक 100 करोड़ का जादुई आंकड़ा पार कर लिया है।
Nationwide Vaccination : टीकाकरण अभियान में भारत ने बनाया रिकॉर्ड, पार किया 100 करोड़ का जादुई आंकड़ा
भारत ने कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में बहुत बड़ा कीर्तिमान स्थापित किया है। 15 जनवरी 2021 से शुरू हुए देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत 21 अक्टूबर तक 100 करोड़ का जादुई आंकड़ा पार कर लिया है। इस खास मौके को और खास बनाने के लिए दिल्ली के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल (RML) में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हो रहे हैं। 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने एक ट्वीट करके देश को यह उपलब्धि हासिल करने पर बधाई दी और कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम नेतृत्व का परिणाम है। उन्होंने लिखा, ‘‘बधाई हो भारत! यह दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थ नेतृत्व का प्रतिफल है।’’
इस उपलब्धि पर प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा, "भारत लिपियों का इतिहास। हम 130 करोड़ भारतीयों की भारतीय विज्ञान, उद्यम और सामूहिक भावना की विजय देख रहे हैं। 100 करोड़ टीकाकरण पार करने पर भारत को बधाई। हमारे डॉक्टरों, नर्सों और इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए काम करने वाले सभी लोगों का आभार।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, देश में टीकाकरण के पात्र वयस्कों में से करीब 75 प्रतिशत लोगों को कम से कम एक खुराक लग चुकी है, जबकि करीब 31 प्रतिशत लोगों को टीके की दोनों खुराक लग चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में टीकाकरण मुहिम शुरू होने के 85 दिन बाद तक 10 करोड़ खुराक लगाई जा चुकी थीं, इसके 45 और दिन बाद भारत ने 20 करोड़ का आंकड़ा छुआ और उसके 29 दिन बाद यह संख्या 30 करोड़ पहुंच गई। 
देश को 30 करोड़ से 40 करोड़ तक पहुंचने में 24 दिन लगे और इसके 20 और दिन बाद छह अगस्त को देश में टीकों की दी गई खुराकों की संख्या बढ़कर 50 करोड़ पहुंच गई। इसके बाद उसे 100 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 76 दिन लगे। देश में टीकों की सर्वाधिक खुराक देने वाले शीर्ष पांच राज्यों में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश शामिल हैं। 
टीकाकरण मुहिम की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी और इसके पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए गए थे। इसके बाद दो फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का टीकाकरण आरंभ हुआ था। टीकाकरण मुहिम का अगला चरण एक मार्च से आरंभ हुआ, जिसमें 60 साल से अधिक आयु के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीके लगाने शुरू किए गए। 
देश में 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक अप्रैल से आरंभ हुआ था और 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू हुआ। देश के दुर्गम इलाकों में भी इस समय टीकाकरण तेज रफ़्तार से जारी है।
facebook twitter instagram