मोदी की इच्छाशक्ति और अमित शाह की रणनीति से समाप्त हुआ अनुच्छेद 370 : नड्डा

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आरोप लगाया कि अब्दुल्ला परिवार, दिवंगत पीडीपी नेता मुफ्ती मोहम्मद सईद तथा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे के बारे में लोगों को "गुमराह" किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 संविधान में अस्थायी प्रावधान था।   

नड्डा ने कहा, "पहले शेख अब्दुल्ला, बाद में फारूक अब्दुल्ला, और मुफ्ती मोहम्मद सईद, फिर उमर अब्दुल्ला और गुलाम नबी आजाद कहा करते थे कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्राप्त है। उन्होंने दुनिया को गुमराह किया। यह कोई विशेष दर्जा नहीं है।" वह यहां भाजपा की चंडीगढ़ इकाई द्वारा आयोजित एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने जोर दिया कि जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा अस्थायी था। उन्होंने विशेष दर्जा समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री अमित शाह की सराहना की। नड्डा ने कहा, "मोदी की इच्छा शक्ति और अमित शाह की रणनीति के कारण अनुच्छेद 370 को हटाना संभव हो सका।" 

अनुच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर के निवासियों को मौलिक अधिकारों से वंचित किया : राम माधव

उन्होंने कहा कि प्रावधान को हटाने के साथ जम्मू कश्मीर का पूरी तरह से भारत में एकीकरण हो गया और अब सभी 104 भारतीय कानून नए केंद्रशासित प्रदेशों में लागू होंगे। उन्होंने आगे कहा कि श्रीनगर और जम्मू में दो अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) संस्थान स्थापित किए जाएंगे। 

Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Mufti Mohammad Sayeed,Modi,Amit Shah,JP Nadda,Ghulam Nabi Azad,PDP,Abdullah,Congress,Jammu and Kashmir