अशोक अरोड़ा ने अपने स्वार्थ के लिए छोड़ी इनेलो : अभय चौटाला

कुरुक्षेत्र : इनेलो नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय चौटाला ने आरोप लगाया कि अशोक अरोड़ा पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से पार्टी को कमजोर करने में लगे हुए थे। उन्होने अपने स्वार्थ के लिए पार्टी के साथ विश्वासघात किया है। अभय चौटाला स्थानीय पंजाबी धर्मशाला में जिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। बैठक का आयोजन जननायक चौ. देवीलाल जयंती के उपलक्ष्य में इनेलो द्वारा 25 सितंबर को कैथल में आयोजित सम्मान दिवस रैली की तैयारियों को लेकर किया गया था। 

अभय चौटाला ने कहा कि अशोक अरोड़ा ने यह स्वीकार किया है कि पार्टी ने उन्हे पूरा मान-सम्मान दिया और आज वे जो कुछ भी हैं पार्टी के कारण हैं और ओमप्रकाश चौटाला का एहसान कभी नही उतार सकते। लेकिन आज ओमप्रकाश चौटाला जेल की सजा काट रहे हैं ऐसे संकट के समय में अरोड़ा ने थानेसर हलके की जनता के हित के लिए नही बल्कि अपने स्वार्थ के लिए पार्टी छोडी है। 

उन्होने अशोक अरोड़ा पर कड़े प्रहार करते हुए कहा कि अरोड़ा जिस भी पार्टी में जाएंगें वहां भी उनका कुछ बंटने वाला नही है। इनेलो नेता ने कहा कि पार्टी पर इस प्रकार के संकट अनेक बार आए हैं लेकिन हर बार पार्टी मजबूत होकर उभरी है। इस बार भी पार्टी कार्यकर्ताओं के दम पर मजबूत ढंग़ से चुनाव लडेगी। 

चुनाव की घोषणा होते ही प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया जाएगा। प्रत्येक हलके के कार्यकर्ताओं से चुनाव लडने के इच्छुक लोगों के तीन-चार नाम मांगे गए हैं।
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,Ashok Arora,INLD,Abhay Chautala