राहुल बजाज के 'डर का माहौल' संबंधी बयान के बाद अशोक गहलोत को देश में माहौल सुधरने की उम्मीद

देश के प्रमुख उद्योगपति राहुल बजाज के 'डर का माहौल' संबंधी बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि बजाज से यही उम्मीद की जा सकती थी। गहलोत ने उम्मीद जताई कि ‘अब देश में माहौल सुधरेगा।’ 
क्या राहुल बजाज ने सरकार को आईना दिखाने का काम किया ? यह पूछे जाने पर अशोक गहलोत ने कहा, "राहुल बजाज, दिवंगत जमनालाल बजाज के पोते हैं, जो गांधी जी के शिष्य थे, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष थे, स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्होंने सेवाग्राम आश्रम बनाया। उनके पोते से यही उम्मीद थी देशवासियों को।"
गहलोत ने आगे कहा, "केंद्रीय गृहमंत्री (अमित शाह) की उपस्थिति में उन्होंने बहुत साहसपूर्वक अपनी बात कही। मैं उम्मीद करता हूं कि सरकार की आंखें खुलेगी, सरकार में सोच पैदा होगी कि किस दिशा में देश जा रहा है, किस दिशा में अर्थव्यवस्था जा रही है।"
उल्लेखनीय है कि राहुल बजाज ने मुंबई में शनिवार को एक पुरस्कार समारोह में कहा था कि 'देश में डर का माहौल' है और लोग सरकार की आलोचना करने से डरते हैं और लोगों में यह यकीन नहीं है कि उनकी आलोचना को सरकार में सराहा जाएगा।’’ इस मौके पर गृह मंत्री अमित शाह भी कार्यक्रम में मौजूद थे। 
उन्होंने कहा, "राहुल बजाज के बोलने के बाद कल संसद में आपने देखा कि लोग खुलकर बोलने लगे हैं। उद्यमी खुलकर बोलने लगे हैं। वरना सभी उद्यमी, बड़े-बड़े उद्यमियों के मुंह पर ताले लगे हुए थे। जब मनमोहन सिंह बोले हैं, जब मिस्टर राहुल बजाज बोले हैं, उसके बाद मैं उम्मीद करता हूं कि बड़े-बड़े उद्योगपतियों में हिम्मत आई है।"
गहलोत ने कहा, "मैं साधुवाद देता हूं राहुल बजाज को और उम्मीद करता हूं कि जो माहौल देश में है, उसमें अब सुधार आएगा और देश का भला होगा।"

Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Rahul Bajaj,country,Ashok Gehlot,awards ceremony,government,Mumbai