+

अशोक गहलोत ने कहा- बेहतर होता यदि केंद्र सरकार टीकों के लिए वैश्विक निविदा जारी करती

कई राज्यों द्वारा कोरोना वायरस प्रतिरक्षण टीके के लिए वैश्विक निविदाएं जारी किए जाने का जिक्र करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि बेहतर होता यदि केंद्र सरकार टीकों के लिए वैश्विक निविदा जारी करती।
अशोक गहलोत ने कहा- बेहतर होता यदि केंद्र सरकार टीकों के लिए वैश्विक निविदा जारी करती
कई राज्यों द्वारा कोरोना वायरस प्रतिरक्षण टीके के लिए वैश्विक निविदाएं जारी किए जाने का जिक्र करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि बेहतर होता यदि केंद्र सरकार टीकों के लिए वैश्विक निविदा जारी करती। 
गहलोत ने ट्वीट किया कि देश में कोरोना वायरस प्रतिरक्षण टीकों की कमी के कारण कई राज्य दूसरे देशों से वैक्सीन लेने के लिए वैश्विक निविदायें जारी कर रहे हैं। बेहतर यह होता कि केंद्र सरकार वैश्विक निविदा जारी करके टीके खरीदती व राज्यों में वितरण करती तथा बाद में इसका भुगतान राज्य सरकारों से ले लेती।


गहलोत के अनुसार हालांकि, देशवासियों की मांग है कि अन्य टीकों की तरह इस घातक महामारी का टीका केंद्र सरकार द्वारा पूरी तरह निशुल्क उपलब्ध करवाया जाए। इससे 'एकल खरीद' की व्यवस्था बनती जो सभी राज्यों के लिए बेहतर होती। एक अन्य ट्वीट में गहलोत ने राज्य के अधिकारियों व कर्मचारियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे जनहित में उचित फैसले लें, राज्य सरकार पूरी तरह से उनके साथ है।


गहलोत ने ट्वीट किया कि राजस्थान के सभी अधिकारी व कर्मचारी इस संकट की घड़ी में अच्छा काम कर रहे हैं। राजस्थान सरकार पूरी तरह उनके साथ खड़ी है। जनहित में उन्हें जो फैसला उचित लगे उसे लेने में बिल्कुल ना घबराएं। मुख्यमंत्री ने लिखा कि हमारी प्राथमिकता जल्दी से जल्दी एवं अधिक से अधिक लोगों का कोरोना से बचाव करना है।
होम :
facebook twitter instagram