विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल दें पद से इस्तीफा : गुप्ता

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री केजरीवाल से सवाल किया है कि जब उन्हें मालूम था कि उनके विधायक राम निवास गोयल के खिलाफ एक बिल्डर के घर में जबरन घुसने का आपराधिक मामला चल रहा है तो उन्हें विधानसभा अध्यक्ष कैसे बनाया गया जिस पर विधानसभा के सभी सदस्यों को विधानसभा में नियंत्रित करने की जिम्मेदारी होती है। उन्होंने कहा की यह पहला अवसर है कि जब किसी विधानसभा अध्यक्ष को इस तरह के आपराधिक मामले में अदालत द्वारा दोषी करार दिया गया है। 

गुप्ता ने मांग करते हुए कहा कि राम निवास गोयल आपराधिक मामले में अदालत द्वारा दोषी पाए जाने पर संवैधानिक पद की गरिमा को देखते हुए अपने पद से त्यागपत्र दें। उन्हें विधानसभा अध्यक्ष बने रहने का अब कोई नैतिक अधिकार नहीं है।  उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी भ्रष्टाचार मिटाने व कानून का राज स्थापित करने के नाम पर दिल्ली की सत्ता में आई थी, लेकिन पिछले 56 महीने में आम आदमी पार्टी के विधायकों और नेताओं का असली चेहरा पूरी तरह से बेनकाब हो चुका है। 

इनके अधिकतर विधायक भ्रष्टाचार, फर्जी डिग्री, योन शोषण, घरेलू हिंसा जैसे गंभीर मामलों में लिप्त हैं। गुप्ता ने कहा की अब आम आदमी पार्टी के इन भ्रष्ट नेताओं व विधायकों का समय पूरा हो चुका है। दिल्ली की जनता इनसे तंग आ चुकी है। उन्होंने कहा कि फरवरी 2015 में राम निवास गोयल और उनके समर्थकों ने दिल्ली के विवेक विहार क्षेत्र में एक बिल्डर के घर चुनाव में बांटने के लिए शराब होने के संदेह में छापामारी की थी। इस बिल्डर के यहां जबरन घुसकर घर में तोड़फोड़ और वहां काम कर रहे मजदूरों के साथ हाथापाई भी की गई थी।
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,Ram Niwas Goyal,Vijender Gupta,court,assembly speaker