+

राजभर पर हमले की कोशिश, सपा ने सरकार को घेरा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बयान जारी कर आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दावे कितने खोखले हैं यह थानों में बलात्कार की आए दिन हो रही घटनाओं से प्रमाणित है। भाजपा सरकार में विपक्ष को अपमानित करने की घटनाएं घोर निंदनीय है।
राजभर पर हमले की कोशिश, सपा ने सरकार को घेरा
समाजवादी पार्टी के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष एवं विधायक ओमप्रकाश राजभर पर मंगलवार को गाजीपुर स्थित उनके विधानसभा क्षेत्र जहूराबाद में कथित रूप से हमले की कोशिश की गई।
राजभर का साझा किया वीडियो 
सपा ने ट्विटर के माध्यम से राजभर का एक वीडियो साझा किया है। इस वीडियो में राजभर ने कहा 'आज मैं अपने साथियों के साथ एक मृतक के परिवार के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए अपने विधानसभा क्षेत्र गाजीपुर के जहूराबाद में गांव सभा गोशलपुर पहदरिया पहुंचा था। मैं बातचीत कर ही रहा था तभी लाठी-डंडे लिये 10-12 लोग गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने के लिए तैयार हो गये।'
भाजपा के लोग इस बात का ढिंढोरा पीट रहे हैं कि कानून-व्यवस्था ठीक है - राजभर 
प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री राजभर ने इसी वीडियो में कहा कि समर्थकों के बीच बचाव करने और सुरक्षाकर्मियों के सहयोग से उन्हें वहां से बचाकर निकाला गया। उन्होंने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा 'भाजपा के लोग इस बात का ढिंढोरा पीट रहे हैं कि कानून-व्यवस्था ठीक है। जब विधायक के साथ इस तरह का सुलूक हो रहा है तो आम जनता के बारे में क्या कहा जाए। अगर हमने कंट्रोल नहीं किया होता तो यहां बवाल काफी बढ़ गया होता।'
उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है - अखिलेश
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बयान जारी कर आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दावे कितने खोखले हैं यह थानों में बलात्कार की आए दिन हो रही घटनाओं से प्रमाणित है। भाजपा सरकार में विपक्ष को अपमानित करने की घटनाएं घोर निंदनीय है।
यादव ने कहा 'पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के जीवन को खतरा है। उन पर पिछले दिनों कई हमले हुए है फिर भी उनकी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था नहीं की जा रही है। विपक्षी जनप्रतिनिधियों के साथ दुर्व्यवहार लोकतांत्रिक व्यवस्था पर हमला है।'
यादव ने मांग की है कि सभी विपक्षी नेताओं की पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की जाए, जिससे उन्हें जनता के बीच जाने और उसकी आवाज उठाने में कोई खतरा न हो।
उन्होंने आरोप लगाया कि राजभर के खिलाफ आपराधिक एवं अवांछनीय तत्वों की कार्यवाहियों की सूचनाओं के बाद भी भाजपा सरकार निष्क्रिय बनी हुई है। लगता है कि राजभर के खिलाफ यह सरकार बदले की भावना से काम कर रही है। सुरक्षा में ढील से असामाजिक तत्वो को शह मिल रही है।
होम :
facebook twitter instagram