+

औरंगाबाद के व्यक्ति ने NIA द्वारा बरामद की गई एक नंबर प्लेट को अपने वाहन का बताया

महाराष्ट्र में औरंगाबाद के एक निवासी ने दावा किया है कि मुंबई की मीठी नदी से एनआईए द्वारा बरामद की गई नंबर प्लेटों में से एक उसके वैन की हैं, जो पिछले साल चोरी हो गई थी।
औरंगाबाद के व्यक्ति ने NIA द्वारा बरामद की गई एक नंबर प्लेट को अपने वाहन का बताया
महाराष्ट्र में औरंगाबाद के एक निवासी ने दावा किया है कि मुंबई की मीठी नदी से एनआईए द्वारा बरामद की गई नंबर प्लेटों में से एक उसके वैन की हैं, जो पिछले साल चोरी हो गई थी। पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पिछले महीने उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर एक एसयूवी कार पाई गई थी, जिसमें विस्फोटक सामग्री रखी थी।
इसके बाद कथित तौर पर उक्त कार के मालिक और व्यवसायी मनसुख हिरन की हत्या हो गई थी। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) इन दोनों मामलों की जांच रहा है। एजेंसी के अधिकारी, निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को रविवार को मीठी नदी पर ले गए थे और गोताखोरों की मदद से दो डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, दो सीपीयू, एक लैपटॉप, दो हार्ड डिस्क, दो नंबर प्लेट और एक प्रिंटर बरामद किया था।
पुलिस अधिकारी ने बताया कि जालना के सामाजिक न्याय विभाग में क्लर्क के तौर पर काम करने वाले औरंगाबाद निवासी विजय नाडे को वाहन के नंबर प्लेट के संबंध में पत्रकारों के फोन आने शुरू हो गए थे, जिसके बाद वह सोमवार को सिटी चौक पुलिस थाने गए।
उन्होंने कहा कि नदी में फेंकी गई एक नंबर प्लेट नाडे के वाहन की थी। अधिकारी ने कहा कि नाडे का वाहन पिछले साल नवंबर में चोरी हुआ था और उसने सिटी चौक पुलिस थाने में इस बाबत शिकायत भी दर्ज कराई थी। औरंगाबाद सिटी चौक पुलिस थाने के वरिष्ठ निरीक्षक संभाजी पवार ने कहा, “पिछले साल 17 नवंबर को वाहन चोरी की एक प्राथमिकी दर्ज है। अब तक एनआईए से कोई बातचीत नहीं हुई है, लेकिन हम उन्हें इस मामले में सहायता करेंगे।” नाडे ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने वाहन चोरी होने की शिकायत दर्ज कराई थी और उनके पास घटना का सीसीटीवी फुटेज है।


facebook twitter instagram