+

बाबरी विध्वंस की बरसी आज, हिंदू संगठनों के कार्यक्रम पर लगी रोक

हिंदूवादी संगठनों ने मथुरा में लड्डू गोपाल का जलाभिषेक करने और हनुमान चालीसा पढ़ने की अनुमति मांगी थी। इसे देखते हुए जिले में धारा 144 लागू है
बाबरी विध्वंस की बरसी आज, हिंदू संगठनों के कार्यक्रम पर लगी रोक
आज ही के दिन साल 1992 को बाबरी मस्जिद गिराई गई थी। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 6 दिसंबर यानी बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी को देखते हुए हाई अलर्ट की घोषणा की गई है। केवल अयोध्या ही नहीं मथुरा में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। कड़ी सुरक्षा के बीच ड्रोन से निगरानी की जा रही है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई है। 
पुलिस ने इलाके में इस मौके पर किसी को भी किसी तरह के आयोजन की अनुमति नहीं दी है। बाहर से आने वाले वाहनों और लोगों की भी चेकिंग की जा रही है। मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने पूरे मथुरा में सुरक्षा को लेकर पुलिस कर्मियों से पल पल पर नजर बनाए रखने के लिए कहा है।  
हिंदूवादी संगठनों पर भी पुलिस की खास नजर 
हिंदूवादी संगठनों पर भी पुलिस की खास नजर रहेगी। दोनों धर्मस्थलों के 300 मीटर क्षेत्र में बने रेड जोन पर आने जाने वालों पर नजर रखी जा रही है। सभी संगठनों को सख्त हिदायत जारी की गई है। वहीं, अखिल भारत हिंदू महासभा ने मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि-ईदगाह परिसर में आज लड्डू गोपाल का जलाभिषेक करने और हनुमान चालीसा पढ़ने की अनुमति मांगी है। इसे देखते हुए मथुरा प्रशासन ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। इसके तहत पांच से ज्यादा लोगों को एक जगह इकठ्ठा होकर सभा, धरना या कोई भी प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सुलझा था विवाद
बता दें, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या विवाद सुलझ गया है। राम जन्मभूमि परिसर को राम मंदिर निर्माण के लिए दे दिया गया। मस्जिद निर्माण के लिए अयोध्या जनपद में ही 5 एकड़ जमीन सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को दी जा चुकी है। राम जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से निर्माण चल रहा है।

facebook twitter instagram