जम्मू कश्मीर में एक बार फिर 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर लगा प्रतिबंध

कश्मीर घाटी में बुधवार शाम को एक बार फिर इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दिया गया। अधिकारियों के अनुसार घाटी में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर प्रतिबंध लगाया गया है । प्रशासन द्वारा यह कदम झूठी खबर को फैलाने से रोकने के लिए उठया गया है।
पिछले दिनों घाटी में झूठी अफवाह फैली कि हुरहियत नेता सैयद अली शाह गिलानी की मौत हो गई है। जबकि राज्य प्रशासन के अनुसार यह खबर पूरी तरह बेबुनियाद है और उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि गिलानी पिछले काफी समय से बीमार चल रहे हैं लेकिन अभी उनकी हालत स्थिर है। पिछले सप्ताह संसद हमले के दोषी अफजल गुरु और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के आतंकी मकबूल भट की बरसी पर इंटरनेट कुछ घंटों के लिए घाटी में निलंबित कर दिया गया था।

सीएए- एनआरसी के मुद्दे पर आज चिदंबरम जेएनयू छात्रों को करेंगे संबोधित

बता दें पिछले साल पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 के हटने के बाद से जम्मू एवं कश्मीर प्रशासन ने इंटरनेट उपयोग पर पाबंधी लगा दी थी। उसके बाद से पिछले महीने 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवा घाटी में बहाल की गयी । हालांकि, ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा अभी तक लगातार निलंबित बनी हुई है। घाटी में सोशल मीडिया को ब्लॉक कर दिया गया है और केवल चुनिंदा वेबसाइटें ही इंटरनेट पर उपलब्ध हैं।

 
Tags : चीनी,Chinese,Punjab Kesari,GST Council,जीएसटी काउंसिल,जीएसटीएन,gstn,Karnataka elections,कर्नाटक चुनाव ,Afzal Guru,Kashmir,Jammu,Maqbool Bhat,Valley,anniversary,Jammu and Kashmir Liberation Front,Parliament