दिल्ली में गैर पीएनजी उद्योगों, एनसीआर में कोयला आधारित इकाइयों से पाबंदी हटी

नयी दिल्ली : वायु की गुणवत्ता शनिवार को ठीक होने और अगले दो दिनों तक बेहतर होने की उम्मीद के कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोयला आधारित इकाइयों के परिचालन और दिल्ली में पाइप से आपूर्ति होने वाली प्राकृतिक गैस का इस्तेमाल नहीं करने वाले उद्योगों पर लागू प्रतिबंध हटा लिया गया है । 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के नेतृत्व में कार्यबल की समीक्षा बैठक में शनिवार को यह भी फैसला किया गया कि एनसीआर में हॉट मिक्स प्लांट और क्रशर बंद रहेंगे। मौसम विभाग के वी के सोनी ने बैठक में बताया कि अनुकूल मौसम सोमवार तक रहने के आसार हैं। इसके बाद वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘खराब’ के ऊपरी स्तर तक या ‘बहुत खराब’ श्रेणी के निचले स्तर तक जा सकता है। 

दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक शनिवार को शाम चार बजे 357 था। इस वजह से तेज हवाओं के कारण पिछले चार दिनों से एनसीआर के ऊपर छाई धुंध का प्रकोप भी कम हो गया। सोनी ने बताया कि हवा की दिशा उत्तर पश्चिमी और इसकी रफ्तार तेज है । 

मौसम के पूर्वानुमान के मद्देनजर कार्यबल ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, सोनीपत और बहादुरगढ में कोयला आधारित उद्योगों और दिल्ली में प्राकृतिक गैस को छोड़कर अन्य ईंधनों का इस्तेमाल करने वाले उद्योगों से पाबंदी हटाने की सिफारिश की है। 

पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण ने भीषण प्रदूषण के कारण ऐसी इकाइयों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी । कार्यबल ने उद्योगों से प्रदूषण नियंत्रण के समुचित उपाए करने और पर्यावरण के निर्धारित मानकों को पूरा करने के निर्देश दिए हैं । 
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,Delhi,NCR,units,workforce,review meeting,plants,crushers,Central Pollution Control Board