+

केरल में माकपा के राज्य सचिव के बेटे बिनीश कोदियेरी ED के समक्ष पेश हुए

केरल में सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य सचिव कोदियेरी बालाकृष्णन के बेटे बिनीश कोदियेरी बुधवार सुबह यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए।
केरल में माकपा के राज्य सचिव के बेटे बिनीश कोदियेरी ED के समक्ष पेश हुए
केरल में सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य सचिव कोदियेरी बालाकृष्णन के बेटे बिनीश कोदियेरी बुधवार सुबह यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए। उन्हें ईडी के सामने पेश होने के लिए नोटिस दिया गया था।

बालाकृष्णन के छोटे बेटे बिनीश पिछले एक दशक से अपने व्यापारिक सौदों को लेकर चर्चा में रहे हैं। उनके व्यवसाय में होटल, वित्तीय कंपनियां और कुछ अन्य शामिल हैं जहां उनके कई भागीदारों के साथ व्यावसायिक हित हैं। वहीं, बालाकृष्णन के बड़े बेटे बिनॉय कोदियेरी भी मीडिया की सुर्खियों में भी रहे हैं।

उन पर कथित धोखाधड़ी का आरोप लग चुका है, यह दुबई में हुआ था, एक अरब नागरिक ने शिकायत दर्ज कराई थी। एक और मामला तब हुआ जब बिहार की एक महिला ने मुंबई की एक अदालत का रुख कर दावा किया गया कि बिनॉय ने उसे धोखा दिया है और इन दोनों का एक बेटा है।

मामले में डीएनए परीक्षण के परिणाम का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि बिनीश ने और समय मांगा था लेकिन ईडी ने साफ कह दिया कि उन्हें बुधवार को ही उपस्थित होना होगा।

बिनेश को सुबह 11 बजे रिपोर्ट करने के लिए कहा गया था, लेकिन इस बात के मद्देनजर कि बड़ी संख्या में मीडिया वाले मौजूद होंगे, वह अपने ड्राइवर के साथ सुबह 9.15 बजे प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय पहुंच गए, हालांकि, बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी मौजदू थे,जो उनके पीछे ईडी कार्यालय तक गए।

केरल में बहुचर्चित सोना तस्करी मामले में यूएई काउंसलेट के पूर्व जनसंपर्क अधिकारी पी.एस. सरिथ और स्वप्ना के पकड़े जाने के बाद मीडिया में कयास लगाए जा रहे थे कि क्या बिनीश भी इसमें शामिल हैं। लेकिन यह पिछले महीने के अंत तक नहीं था, उनका नाम तब सामने आया जब केरल के एक युवक अनूप मोहम्मद को बेंगलुरु में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा उठाया गया था।

जल्द ही बिनीश का बयान आया कि वह और अनूप दोस्त थे और उन्होंने उसे छह लाख रुपये का ऋण दिया था और हाल ही में 15,000 रुपये भी दिए थे क्योंकि उसके पास बेंगलुरु से घर लौटने के लिए पैसे नहीं थे। और उसके बाद, बिनीश के अपने दोस्तों और करीबी सहयोगियों के साथ व्यापारिक सौदे के बारे में और अधिक रिपोर्टें आईं। अब तक ईडी ने उनके करीबी दोस्तों और कारोबारी सहयोगियों के बयान लिए हैं।
facebook twitter