+

गुजरात चुनाव से पहले भाजपा ने तराशा एक ओर नया चेहरा, पार्टीदार नेता हार्दिक पटेल हुए BJP में शामिल

गुजरात चुनाव से कुछ महीने पहले गुजरात कांग्रेस इकाई के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल आज बीजेपी के शामिल हो गए। गुरुवार सुबह पार्टी कार्यालय के बाहर हार्दिक पटेल के बीजेपी में स्वागत करने वाले पोस्टर लगाए गए।
गुजरात चुनाव से पहले भाजपा ने तराशा एक ओर नया चेहरा, पार्टीदार नेता हार्दिक पटेल हुए  BJP में शामिल
गुजरात चुनाव से कुछ महीने पहले गुजरात कांग्रेस इकाई के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल आज बीजेपी के शामिल हो गए। गुरुवार सुबह पार्टी कार्यालय के बाहर  हार्दिक पटेल के बीजेपी में स्वागत करने वाले पोस्टर लगाए गए।हार्दिक पटेल ने आज सुबह ट्वीट कर इस बात की धोषणा की। उन्होंने ट्वीट में कहा कि  वह अपने जीवन में एक नया अध्याय शुरू करने जा रहा हैं। साथ ही कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में एक छोटे सैनिक के रूप में काम करते हुए।
आधिकारिक तौर पर बीजेपी में शामिल होने से पहले
मीड़िया रिपोर्ट्स के अनुसार आधिकारिक तौर पर बीजेपी में शामिल होने से पहले उन्होंने सवादाताआों से कहा कि मैंने कभी किसी पद के लिए किसी के सामने कोई मांग नहीं रखी। मैं काम करने के लिए भाजपा में शामिल हो रहा हूं। मेरा मानना ​​​​है कि कांग्रेस पार्टी किसी भी तरह का काम नहीं करना चाहती है। मैं अन्य दलों के नेताओं से आग्रह करता हूं कि वे आएं और इसमें शामिल हों बीजेपी। पीएम मोदी पूरी दुनिया का गौरव हैं, "साथ ही उन्होंने कहा कि वह अपने जीवन में एक नया अध्याय शुरू कर रहे हैं। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस नेताओं को भाजपा में शामिल होने के लिए कहने के लिए एक अभियान शुरू करेंगे।
हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा
हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा, राष्ट्रहित, प्रदेशहित, जनहित एवं समाज हित की भावनाओं के साथ आज से नए अध्याय का प्रारंभ करने जा रहा हूँ। भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी के नेतृत्व में चल रहे राष्ट्र सेवा के भगीरथ कार्य में छोटा सा सिपाही बनकर काम करूँगा। बता दें कि, हार्दिक ने हाल ही में कांग्रेस पार्टी के गुजरात के कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था।  
लोकसभा चुनाव 2019 पहले वह कांग्रेस में शामिल हुए
बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 पहले वह कांग्रेस में शामिल हुए थे और उन्हें पार्टी की राज्य इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया। जब हार्दिक पटेल 19 मई को इस्तीफा दिया।  तो उन्होंने काग्रेंस पर अरोप लगाय कि  पार्टी में दरकिनार कर दिया गया और उन्हें कोई जिम्मेदारी भी नहीं दी गई। जगजाहिर है कि आरक्षण की मांग को लेकर  हार्दिक पटेल भाजपा की अलोचना कि जिसके बाद उन्होंने पार्टी में अपनी पहचान बनाई।

होम :
facebook twitter instagram