+

बंगाल चुनाव: कूचबिहार में मतदान के दौरान गोलीकांड की जांच का दायित्व CID ने संभाला

पश्चिम बंगाल सीआईडी ने 10 अप्रैल को कूचबिहार जिले में मतदान के दौरान सीआईएसएफ की गोलीबारी में चार लोगों की मौत के मामले में जांच की जिम्मेदारी शुक्रवार को ली।
बंगाल चुनाव: कूचबिहार में मतदान के दौरान गोलीकांड की जांच का दायित्व CID ने संभाला
पश्चिम बंगाल सीआईडी ने 10 अप्रैल को कूचबिहार जिले में मतदान के दौरान सीआईएसएफ की गोलीबारी में चार लोगों की मौत के मामले में जांच की जिम्मेदारी शुक्रवार को ली। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। सीतलकूची में चौथे चरण के मतदान के दौरान हुई घटना की जांच के लिए अपराध जांच विभाग (सीआईडी) की विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है। 
इस घटना के बाद सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और उसको चुनौती दे रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच उग्र जुबानी जंग शुरू हो गई है और लोगों में इस घटना को लेकर आक्रोश है। अधिकारी ने बताया कि जांचकर्ता सीतलकूची निर्वाचन क्षेत्र के जोरपटकी में मतदान केंद्र 126/5 का दौरा करेंगे, जहां सीआईएसएफ कर्मियों ने ग्रामीणों द्वारा कथित तौर पर हमला करने के बाद गोलियां चला दी थी। 
टीएमसी ने दावा किया है कि जिनकी मौत हुई वे पार्टी के समर्थक थे और उन्हें उस वक्त गोली मारी गई जब वे वोट डालने के लिए कतार में खड़े थे। टीएमसी प्रमुख एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस घटना को ‘नरसंहार’ बताया है। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों से बात करने और उनके बयान दर्ज करने के अलावा एसआईटी घटना का वीडियो फुटेज भी देखेगी। 
उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो प्रसारित हुआ है जिसकी प्रमाणिकता को जांचने के लिए फॉरेंसिक जांच करवाई जा सकती है। एसआईटी घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंचे स्थानीय पुलिस थाने के अधिकारियों और कर्मियों से भी बात करेगी। 
चुनाव आयोग ने घटना के बाद मतदान केंद्र पर वोटिंग रद्द कर दी थी और स्थिति बिगड़ने से रोकने के लिए कूच बिहार में नेताओं के प्रवेश पर 72 घंटे की रोक लगा दी थी। बनर्जी बुधवार को सीतलकूची पहुंची थी और मृतकों के परिवार से मुलाकात की थी।
facebook twitter instagram