+

अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर बैठे प्रवासियों के लिए बाइडन ने किया ट्रंप की नीति में बदलाव

अमेरिका में जो बाइडन प्रशासन के शरणार्थियों के लिए नीति में बदलाव के फैसले के बाद मैक्सिको में ठहरे लोगों के इंतजार की घड़ियां खत्म होने वाली हैं।
अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर बैठे प्रवासियों के लिए बाइडन ने किया ट्रंप की नीति में बदलाव
अमेरिका में जो बाइडन प्रशासन के शरणार्थियों के लिए नीति में बदलाव के फैसले के बाद मैक्सिको में ठहरे लोगों के इंतजार की घड़ियां खत्म होने वाली हैं। पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को पलटने के साथ ही नयी नीति के तहत शरणार्थियों के एक जत्थे को अमेरिका में दाखिल होने की अनुमति दी गयी है। मैक्सिको में अनुमानित तौर पर 25,000 लोग अमेरिका में शरण के लिए मंजूरी की प्रतीक्षा कर रहे हैं और इनमें से 25 लोगों के जत्थे को दाखिल होने की अनुमति दी गयी। इन लोगों को अदालत में अपने लंबित मामलों की सुनवाई में हिस्सा लेने के लिए देश आने की इजाजत दी गयी है।
ज्यादा संख्या में प्रवासियों के आने की संभावना के कारण अमेरिकी अधिकारियों ने लोगों को सीमा पर नहीं आने और उन्हें सबसे पहले शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायोग की वेबसाइट पर पंजीकृत कराने को कहा है। कोरोना वायरस महामारी के कारण मैक्सिको से आए लोगों को पृथक-वास में रखने के लिए सेन डिएगो के होटलों में ले जाया गया। पृथक-वास की अवधि पूरी होने के बाद वे अमेरिका में अपने रिश्तेदारों, दोस्तों के पास या अन्य स्थानों पर जा पाएंगे।
मैक्सिको से लगी सीमा पर भी भ्रम की स्थिति बनी है। तिजुआना सीमा पर करीब 100 लोग शुक्रवार को जमा हो गए और उन्होंने अमेरिका में दाखिल होने देने का अनुरोध किया। हालांकि अधिकारियों ने उन्हें प्रवेश देने से मना कर दिया।
facebook twitter instagram