+

बिहार CM ने 85.69 करोड रुपये की लागत से बने 6 भवनों का उदघाटन एवं 23 भवनों का किया शिलान्यास

बिहार सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को 85.69 करोड रुपये की लागत से बने 6 भवनों का उदघाटन एवं 536.53 करोड रुपये की लागत से बनने वाले 23 भवनों का शिलान्यास किया।
बिहार CM ने 85.69 करोड रुपये की लागत से बने 6 भवनों का उदघाटन एवं 23 भवनों का किया शिलान्यास
बिहार सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को 85.69 करोड रुपये की लागत से बने 6 भवनों का उदघाटन एवं 536.53 करोड रुपये की लागत से बनने वाले 23 भवनों का शिलान्यास किया। 
पटना के एक अणे मार्ग से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नीतीश ने 85.69 करोड रुपये की लागत से बने 6 भवनों का बुधवार को उदघाटन एवं 536.53 करोड रुपये की लागत से बनने वाले 23 भवनों का शिलान्यास किया। 
इसके साथ ही बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड द्वारा सरकारी अंगीभूत महाविद्यालय (डिग्री कॉलेज) अरवल के भवन का शिलान्यास भी किया गया। 
इस अवसर पर सरदार पटेल भवन पटना में अधिष्ठापित कलाकृतियों का लोकार्पण भी किया गया। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि सीतामढ़ी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी का आज उद्घाटन किया गया है। 
उन्होंने कहा कि आज के शिलान्यास कार्य के बाद पटना समाहरणालय का निर्माण, समस्तीपुर एवं भोजपुर में अभियंत्रण महाविद्यालय का निर्माण, मुख्यमंत्री खेल विकास योजना के अंतर्गत विभिन्न जिलों खगड़िया, पूर्णिया, सारण, गया, शिवहर, भागलपुर एवं बांका में एक-एक खेल भवन सह व्यायामशाला भवन का निर्माण, एम.आइ.टी. मुजफ्फरपुर में 200 की क्षमता वाले बालक एवं बालिका छात्रावास का निर्माण हो सकेगा। 
उन्होंने कहा कि पटना समाहरणालय के भवन का निर्म ण का काम शुरु हो गया है। पुरातत्व विभाग के निदेशक की जांच रिपोर्ट से इसके संबंध में जानकारी मिली कि यूरोप के नीदरलैंड की डच ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा यह बिल्डिंग बनायी गयी थी, जहां अफीम और शोरा का भंडारण किया जाता था। वहीं पर पता चला कि बापू पर आधारित रिचर्ड एटनबरो की फिल्म ‘गांधी’ की शूटिंग भी यहां हुई थी। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि समाहरणालय का प्रशासनिक भवन 186 करोड रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। इसमें जिलाधिकारी के कार्यालय सहित 39 प्रकार के कार्यालय होंगे। 
सीएम ने कहा कि पहले वर्ष 2004-05 में भवन निर्माण विभाग का बजट 22 करोड 53 लाख रूपये का था, जो वर्ष 2020-21 में बढकर 4,543 करोड़ रुपये हो गया है। विभाग द्वारा वर्ष 2006-07 से वर्ष 2019-20 के बीच 13 हजार 142 करोड़ रुपये का व्यय किया गया है। 
कार्यक्रम को डिप्टीसीएम सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी एवं भवन निर्माण विभाग के प्रधान सचिव चंचल कुमार ने भी संबोधित किया। डिप्टी 
facebook twitter