बिहार : पटना नगर निगम क्षेत्र में नहीं चलेंगे डीजल ऑटोरिक्शा

प्रदूषण एवं पर्यावरण संकट को लेकर गंभीर बिहार सरकार ने आज बड़ा कदम उठाते हुए 31 जनवरी 2021 की मध्य रात्रि से पटना नगर निगम क्षेत्र में डीजल से चलने वाले ऑटोरिक्शा पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। परिवहन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई है। 

श्री अग्रवाल ने बताया कि शहरी क्षेत्र की परिवेशीय वायु गुणवत्ता में सुधार एवं प्रदूषण रहित परिवहन व्यवस्था के लिए चरणबद्ध तरीके से 31 जनवरी 2021 की मध्य रात्रि से पटना नगर निगम तथा 31 मार्च 2021 की मध्य रात्रि से दानापुर नगर परिषद, फुलवारीशरीफ नगर परिषद और खगौल नगर परिषद क्षेत्र में डीजल से चलने वाले ऑटोरिक्शा पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि साथ ही इन क्षेत्रों में संपीड़ति प्राकृतिक गैस (सीएनजी) एवं बैट्री से चलने वाले वाहनों के परिचालन को प्रोत्साहित करने के लिए बिहार स्वच्छ ईंधन योजना, 2019 को मंजूरी दी गई है।

परिवहन विभाग के सचिव ने बताया कि पटना शहरी क्षेत्र में बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित करने एवं लोकहित को ध्यान में रखते हुए परिवेशीय वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए पटना नगर निगम, दानापुर नगर परिषद्, फुलवारीशरीफ नगर परिषद एवं खगौल नगर परिषद क्षेत्र में 15 वर्षों से अधिक पुराने सभी प्रकार के व्यावसयिक वाहनों के परिचालन पर तत्कालीक प्रभाव से रोक लगाये जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई है। 

वायु प्रदूषण के खतरों से निपटने के लिए बिहार सरकार काफी गंभीर है। अभी हाल ही में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में पंद्रह वर्ष से अधिक पुराने व्यवसायिक एवं सरकारी वाहनों के परिचालन पर रोक लगाने का निर्देश दिया है। श्री कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को यहां वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिये हुई उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक में 15 वर्ष से ज्यादा पुराने व्यावसायिक एवं सरकारी वाहनों को वायु प्रदूषण कम करने के लिये प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 वर्ष से पुराने निजी वाहनों की फिटनेस की जांच फिर से की जाये। इस पर सख्ती से कार्रवाई की जाये। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के ईंट-भट्ठे खासकर पटना के आसपास के इलाकों के ईंट-भट्ठे की भी जांच करवा ली जाये कि वे प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये आधुनिक तकनीक का उपयोग कर रहे हैं या नहीं। इसके लिये सख्ती बरतने की आवश्यकता है। शहर के कचरा उठाने वाली गाड़ कचरे को ढंककर ही डंपिंग प्वाईंट पर ले जायें, इसे हर हाल में सुनिश्चित किया जाये।
Tags : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,Prime Minister Narendra Modi,Punjab Kesari,बिप्लब कुमार देब,Bipel Kumar Deb,त्रिपुरा मुख्यमंत्री,Chief Minister of Tripura ,autorickshaws,Bihar,Diesel,area,Patna Municipal Corporation