+

बिहार पुलिस ने बीएमसी को एक बार फिर लिखा पत्र, आईपीएस अधिकारी को छोड़ने की कही बात

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत कथित आत्महत्या मामले की जांच करने मुंबई गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त करने के लिए गुरुवार को पुलिस मुख्यालय ने पत्र लिखा है।
बिहार पुलिस ने बीएमसी को एक बार फिर लिखा पत्र, आईपीएस अधिकारी को छोड़ने की कही बात
बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत कथित आत्महत्या मामले की जांच करने मुंबई गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त करने के लिए गुरुवार को पुलिस मुख्यालय ने पत्र लिखा है।

इससे पहले पटना रेंज के पुलिस महानिरीक्षक संजय कुमार ने बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) को पत्र लिखकर आईपीएस अधिकारी तिवारी को क्वारंटीन मुक्त करने को कहा था, लेकिन बीएमसी ने नियम का हवाला देते हुए इनकार कर दिया था। इसके बाद गुरुवार को बिहार पुलिस मुख्यालय द्वारा पत्र लिखा गया है।

इसकी जानरकारी खुद बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर दी है। पांडेय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, बिहार के पुलिस मुख्यालय ने आज बीएमसी के आयुक्त को एक पत्र लिखकर माननीय सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी का हवाला देते हुए बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त कर बिहार लौटने देने का अनुरोध किया है।

उनके निर्णय का इंतजार है। इससे पहले पांडेय ने आईपीएस अधिकारी को क्वारंटीन करने को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। इससे पहले पांडेय ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा ये गंभीर टिप्पणी की गई है कि बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को मुंबई में जबरदस्ती क्वारंटीन किया जाना गलत है, फिर भी बीएमसी ने उन्हें अभी तक मुक्त नहीं किया है।

वे सुप्रीम कोर्ट की भी परवाह नहीं करते! अब इसको आप क्या कहेंगे? अफसोस! अब इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो के हाथ में चली गई है। उल्लेखनीय है कि सुशांत का शव 14 जून को मुंबई स्थित उनके फ्लैट से बरामद किया गया था। इसके बाद मुंबई पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी।

इस बीच 25 जुलाई को सुशांत के पिता के.के. सिंह ने पटना के राजीवनगर थाने में एक मामला दर्ज करवाया, जिसमें सुशांत की दोस्त रिया चक्रवर्ती सहित छह को आरोपी बनाया गया। इस मामले की जांच के लिए पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम मुंबई भेजी गई।

इसके बाद आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को भी भेजा गया। चार सदस्यीय टीम गुरुवार को पटना वापस आ गई, लेकिन आईपीएस अधिकारी अभी भी मुंबई में क्वारंटीन हैं।
facebook twitter