+

सुरक्षा चूक और कोविड मानदंडों के उल्लंघन पर BJP ने किया कांग्रेस का घेराव, कहा- पार्टी बन रही 'फ्रिंज समूह'

कांग्रेस पर पंजाब से लेकर कर्नाटक तक साजिशें रचने और कोविड मानदंडों का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी और इसके नेता एक 'फ्रिंज समूह' बनते जा रहे हैं।
सुरक्षा चूक और कोविड मानदंडों के उल्लंघन पर BJP ने किया कांग्रेस का घेराव, कहा- पार्टी बन रही 'फ्रिंज समूह'
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस पर पंजाब से लेकर कर्नाटक तक साजिशें रचने और कोविड मानदंडों का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी और इसके नेता एक 'फ्रिंज समूह' बनते जा रहे हैं। पंजाब में प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में चूक और कोविड प्रतिबंधों के बावजूद कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा शुरू की गई पदयात्रा को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी एल संतोष ने कहा कि लंबे समय से सत्ता से बाहर रहने की वजह से कांग्रेस बेताब हो गई है।
प्रतिबंधों के बावजूद कांग्रेस ने कर्नाटक में शुरू की पदयात्रा
दरअसल, कोविड प्रतिबंधों के बावजूद कांग्रेस ने रविवार को कर्नाटक में अपनी 10 दिवसीय पदयात्रा (मेकेदातु पदयात्रा) की शुरूआत कर दी। देश भर में कोरोना के लगातार बढ़ रहे खतरे के बीच कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। यहां तक कि चुनाव वाले पांचों राज्यों (उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर) में भी चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक जनसभा , रोड शो , पदयात्रा और नुक्कड़ सभा पर 15 जनवरी तक रोक लगा रखी है। ऐसे में कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा शुरू की गई इस पदयात्रा को लेकर राजनीतिक घमासान मच गया है।
BJP ने कांग्रेस को करार दिया 'फ्रिंज समूह'
भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी एल संतोष ने कर्नाटक में कांग्रेस की पदयात्रा के साथ-साथ पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर कांग्रेस पर राजनीतिक निशाना साधते हुए ट्वीट कर कहा है, पंजाब से कर्नाटक तक कांग्रेस नेता और कांग्रेस पार्टी एक 'फ्रिंज समूह' बनते जा रहे हैं। साजिश रच रहे हैं, नियमों को तोड़ रहे हैं, कोविड मानदंडों का उल्लंघन कर रहे हैं।
सत्ता के लिए कांग्रेस हो रही बेताब 
उन्होंने सत्ता के लिए कांग्रेस की बेताबी पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि लंबे समय से सत्ता से बाहर रहने की वजह से कांग्रेस बेताब होती जा रही है। कांग्रेस की बेताबी का एक बड़ा कारण यह भी है कि उन्हें कहीं भी सफलता मिलती दिखाई नहीं दे रही है।

ओमीक्रॉन के आतंक के बीच नए वेरिएंट डेल्टाक्रॉन की हुई एंट्री, जानें कितना खतरनाक है ये संक्रमण


facebook twitter instagram