+

गुजरात में BJP को मिली रिकॉर्ड तोड़ जीत, अब 12 दिसंबर को होगा शपथ ग्रहण

गुजरात विधानसभा चुनावों की मतगणना जारी है। रुझानों और नतीजों में बीजेपी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बीजेपी 156, कांग्रेस 17 ,आप 5 और अन्य 4 पर जीत दर्ज की है
गुजरात में BJP को मिली रिकॉर्ड तोड़ जीत, अब 12 दिसंबर को होगा शपथ ग्रहण
गुजरात विधानसभा चुनावों की मतगणना जारी है। रुझानों और नतीजों में बीजेपी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है।  बीजेपी 156, कांग्रेस 17 ,आप 5 और अन्य 4 पर जीत दर्ज की है। शपथ ग्रहण समारोह की सूचना भी मिल गई है। समारोह 12 दिसंबर को 2 बजे होगा। इसमें पीएम मोदी और अमित शाह के शामिल होने की भी जानकारी मिली है। 
रुझानों और नतीजों को लेकर केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भाजपा की ऐतिहासिक जीत विकास, सुशासन और जन कल्याण के लिए उसकी प्रतिबद्धता की जीत है। वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि गुजरात में भाजपा की प्रचंड जीत गुजरात की जनता की भाजपा और पीएम मोदी के प्रति अटूट विश्वास और स्नेह की जीत है।
गुजरात में भाजपा ने जो विकास की राजनीति की, जनता ने उस पर फिर एक बार मोहर लगाई है। इस विश्वास के लिए गुजरात की जनता का कोटि कोटि धन्यवाद। प्रधानमंत्री मोदी जी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री भुपेंद्रभाई पटेल, प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल समेत पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई।
चुनावी मुकाबला त्रिकोणीय रहा
बता दें कि भारतीय जनता पार्टी शासित इस राज्य के 33 जिलों की 182 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव दो चरणों में 1 दिसंबर और 5 दिसंबर को हुआ था। गुजरात में पारंपरिक प्रतिद्वंदी बीजेपी और कांग्रेस के अलावा इस बार आम आदमी पार्टी की दमदार मौजूदगी के कारण इस बार चुनावी मुकाबला त्रिकोणीय हुआ था।
भाजपा ने लगातार सात विधानसभा चुनाव जीते
बता दें कि वोटिंग के बाद के सर्वेक्षणों में गुजरात में बीजेपी के लगातार सातवीं बार सत्तासीन होने का अनुमान जताया गया था। बीजेपी को 117 से 151 सीटें, कांग्रेस को 16 से 51 सीटें और ‘आप' को दो से 13 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया था। गुजरात में यदि बीजेपी जीतती है तो वह दूसरी ऐसी पार्टी बन जाएगी, जिसने लगातार सात विधानसभा चुनाव जीते हैं। इससे पहले भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने पश्चिम बंगाल में लगातार सात चुनाव जीते थे।

गौरतलब है कि गुजरात में बीजेपी पिछले 27 साल से सत्ता में है। यहां उसके सामने इस बार एंटी अनकंबेंसी की चुनौती तो थी लेकिन पीएम मोदी के रूप में एक ट्रंप कार्ड भी था जिसके सहारे बीजेपी को उम्मीद थी कि वो इस चुनौती से पार पा लेगी। पीएम मोदी ने इस बार गुजारत में जमकर प्रचार भी किया, जिसमें अहमदाबाद में 40 किलोमीटर लंबा रोड शो शामिल था।

facebook twitter instagram